DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आलाकमान तय करगा सीएम

झारखंड में सीएम पद के लिए मची किचकिच सोमवार को भी जारी रही। शिबू सोरन द्वारा इस्तीफा देने के बाद यूपीए की बैठक में सहमति नहीं बनी। झामुमो ने चंपई सोरन का नाम आगे किया, जबकि अन्य ने मधु कोड़ा समेत कई और नाम सुझाये। किसी भी नाम पर सहमति नहीं बनी। इसके बाद नये सीएम का नाम दिल्ली में तय किये जाने का फैसला हुआ। इसके लिए गुरुाी और कोड़ा दो-तीन नाम के साथ मंगलवार को दिल्ली जायेंगे। उनके साथ यूपीए का एक बड़ा प्रतिनिधि मंडल भी होगा। बैठक की जानकारी लालू प्रसाद को भी दी गयी है।ड्ढr गुरुाी का इस्तीफा मंजूरड्ढr सोमवार को दिन में करीब 12 बजे सीएम पद से शिबू ने इस्तीफा दे दिया। इसे स्वीकार करते हुए राज्यपाल सैयद सिब्ते राी ने वैकल्पिक व्यवस्था होने तक उन्हें काम करते रहने को कहा। राज्यपाल ने कहा कि वह सभी विकल्पों पर विचार करंगे।ड्ढr यूपीए की बैठक कई घंटे चलीड्ढr गुरुाी के इस्तीफे के बाद यूपीए के घटक दलों की बैठक कांके रोड स्थित सीएम आवास में बुलायी गयी। शाम करीब सवा सात बजे शुरू हुई बैठक रात साढ़े 10 बजे तक चली। बैठक में नये मुख्यमंत्री के नाम पर सहमति नहीं बनी। झामुमो द्वारा चंपई सोरन को नेता चुने जाने पर अन्य दलों ने आपत्ति की। घटक दलों की ओर से कई नाम सामने आये।ड्ढr चंपई-कोड़ा के नाम उछलेड्ढr झामुमो जहां चंपई सोरन के नाम पर अड़ा रहा, वहीं कांग्रेस, राजद और निर्दलीयों की ओर से कई और नाम सुझाये गये। इसमें मधु कोड़ा का भी नाम सामने आया। बैठक में हालांकि वैकल्पिक सरकार बनाने पर सहमति बनी। इसमें कहा गया कि राज्य में यूपीए एकाुट है। अंत में दो-तीन नाम लेकर दिल्ली जाने का फैसला किया गया। इसके लिए शिबू सोरन और मधु कोड़ा के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मंडल मंगलवार को दिल्ली जायेगा।ड्ढr झामुमो अपने स्टैंड पर कायमड्ढr बैठक के बाद मीडिया से बातचीत में गुरुाी ने कहा कि झामुमो अपने स्टैंड पर कायम है। कोड़ा ने कहा-बैठक में कई नाम उभर। उनका भी नाम है। बैठक में सुबोधकांत, गौतम सागर राणा, अन्नपूर्णा, विदेश सिंह, घूरन राम, स्टीफन मरांडी, रामचंद्र चंद्रवंशी, रामचंद्र सिंह, रामचंद्र राम, सुखदेव भगत, बंधु तिर्की, जोबा मांझी, भानु प्रताप शाही, सुफल मरांडी, कमलेश सिंह, मनोज यादव, नलिन सोरन, अमूल्य सरदार, थॉमस हंसदा, चुन्ना सिंह, मथुरा महतो, प्रकाश राम सहित कई अन्य शामिल हुए।ड्ढr तुनक कर निकले स्टीफन मरांडीड्ढr सीएम हाउस में यूपीए की बैठक के बीच से ही स्टीफन मरांडी तुनक कर निकल गये। पीछे-पीछे भानु प्रताप शाही उन्हें मनाने आये। बाद में वह फिर बैठक में गये। सूत्रों ने बताया कि स्टीफन बैठक में किसी एक नाम पर सहमति बने बगैर मीडिया से शिबू सोरन द्वारा बात शुरू कर दिये जाने को लेकर तुनक गये थे। इससे पहले दिन में प्रो मरांडी ने कहा था कि वह किसी भी कीमत पर चंपई सोरन को नेता स्वीकार नहीं करंगे। ूयूपीए के किसी नेता को समर्थन नहीं : एनोसड्ढr पूर्व मंत्री व झापा अध्यक्ष एनोस एक्का ने कहा है कि वह यूपीए के किसी नेता का सीएम के रूप में समर्थन नहीं करंगे। वह नया जनादेश चाहते हैँ। यही राज्य के हित में है। क्या आप चंपई सोरन का सदन के अन्दर या बाहर समर्थन करंगे? एनोस ने दो टूक कहा : चंपई हों या कोड़ा या कोई अन्य हम किसी का समर्थन नहीं करने जा रहे हैं। इस स्टेैंड पर वह, हरिनारायण राय और नवनिर्वाचित विधायक राजा पीटर एकमत हैं। उन्होंने कहा-हम तीनों नये जनादेश प्राप्ति के अपने स्टैंड पर अडिग हैं। कासं चंपई कतई मान्य नहीं: बलमुचूड्ढr रांची (हिब्यू)। कांग्रेस को चंपई सोरन का नेतृत्व कतई मंजूर नहीं होगा। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप बलमुचू, मनोज यादव, नियेल तिर्की सहित अन्य ने कहा है कि जिन चंपई को गुरुाी ने मंत्री बनने लायक भी नहीं समझा, अब सीएम बनाने पर आमादा हैं। वह झामुमो के नेता हो सकते हैं, यूपीए के नहीं। बलमुचू ने दिल्ली से फोन पर कहा कि गुरुाी एकतरफा निर्णय न करं। यूपीए की बैठक में नेता चुनें। जितना विलंब करंगे, राज्य उतना ही प्रेसीडेंट रूल के करीब जायेगा। उन्होंने कहा-गुरुाी जिद पर अड़े रहे, तो प्रेसीडेंट रूल से हमें भी परहेा नहीं है।ड्ढr 32 विधायकों की सूची दिखायें : अजय माकनड्ढr कांग्रेस प्रभारी अजय माकन ने कहा कि यूपीए के सहयोगी 32 विधायकों का समर्थन जुटायें। जिसके पास 32 विधायक होंगे, उन्हें कांग्रेस समर्थन देगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सत्ता की दौड़ में नहीं है, लेकिन पूरी तरह आश्वस्त होने के बाद ही समर्थन दिया जायेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आलाकमान तय करगा सीएम