DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मोटापा घटाने की दवा वापस

वंडरड्रग के नाम से मशहूर वजन घटाने वाली दवा रिमोनावैन्ट (ोनेरिक नाम) की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। इस दवा को बनाने वाली कंपनियों से कहा गया है कि वे दवा को बाजार से वापस ले लें। रिमोनावैन्ट के जरिये 5 से लेकर 10 किलोग्राम तक का वजन एक साल के अंदर घटाने का दावा किया जाता रहा है। दुनिया भर में बड़ी संख्या में लोग इसका इस्तेमाल कर रहे हैं। दवा के दुष्परिणामों को देखते हुए इसकी बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। अमेरिका तथा यूरोपीय देशों में इस दवा को खानेवाले लोगों में न केवल आत्महत्या की प्रवृत्ति बढ़ी, बल्कि काफी लोगों ने आत्महत्याएं भी कीं। बहरहाल, भारत में इस संबंध में कोई रिकार्ड नहीं रखा गया है। छह माह पहले रिमोनावैन्ट पर एक चेतावनी आई थी कि जो लोग अवसाद-ग्रस्त हैं, वे इस दवा का सेवन न करं। लेकिन कुछ दिनों पूर्व लोगों द्वारा की जा रही आत्महत्याओं को देखते हुए यूरोपीय ड्रग अथॉरिटी ने इस दवा की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया। यूरोपियन ड्रग अथॉरिटी के इस प्रतिबंध को देखते हुए भारतीय ड्रग अथॉरिटी ने भी इसकी बिक्री पर प्रतिबंध लगाते हुए कंपनियों से इस दवा को बाजार से वापस लेने को कहा है। पहली बार वर्ष 2006 में सानोफी नामक बहुराष्ट्रीय कंपनी ने यूरोप के मार्केट में इस दवा को लांच किया था। विश्व भर में इसे 17 कंपनियां बनाती हैं। दवा लांच करते समय दावा किया गया था कि 20 मिलीग्राम की एक गोली रोाना लेकर लोग अपना वजन घटा सकते हैं। अब बहुत सार चिकित्सा विशेषज्ञ आलोचना कर रहे हैं कि झटपट कोई भी दवा बाजार में उतार दी जाती है और झटपट वापस ले ली जाती है। विशेषज्ञों का कहना था कि पहले ऐसा नही होता था क्योंकि दवा कंपनियां 10-10 साल के ट्रायल के बाद ही दवा को बाजार में उतारती थीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मोटापा घटाने की दवा वापस