अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैंडबाजे के साथ निकली भव्य शोभायात्रा

दशमेश पिता साहेब श्री गुरुगोविन्द सिंह महाराज के 342वें प्रकाशोत्सव की पूर्व संध्या पर भव्य शोभायात्रा निकाली गयी। शोभायात्रा (नगर कीर्तन) में हजारों श्रद्धालु शामिल हुए। देर शाम तख्त साहेब में कीर्तन दरबार का आयोजन हुआ।ड्ढr ड्ढr इससे पूर्व गायघाट गुरुद्वारा में अखंड पाठ की समाप्ति पर कीर्तन भजन, कथा व अरदास हुए। इसके बाद दिन में एक बजे शोभायात्रा निकाली गयी। नगर कीर्तन में शामिल मंडलियों द्वारा बोले सो निहाल, सत् श्री अकाल, बाहे-बाहे गुरु गोविन्द सिंह जी आपे गुरु चेला आदि नारों व भजन-गायन से अशोक राजपथ गूंज उठा। नगर कीर्तन में झूलते निशान साहेब, पंच प्यार की अगुआई में गुरु ग्रंथ साहेब की पालकी चल रही थी। हाथी, घोड़े, ऊंट, बैंडबाजे, आरकेस्ट्रा, गुरु गोविन्द सिंह गर्ल्स हाई स्कूल, गुरु गोविन्द सिंह ब्वायज हाई स्कूल, जीजीएस स्कूल चितकोहरा, गुरुनानक विद्यालय आदि के बच्चों की मार्चपास्ट, स्त्री सत्संग सभा, कीर्तन मंडलियां समेत पंजाब से आयी गतका पार्टी के लोग अद्भुत करतब दिखा रहे थे। नगर कीर्तन का नेतृत्व तख्त श्रीहरिमंदिरजी प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष सरदार महेन्द्र सिंह रोमाना, महासचिव सरदार कुलमोहन सिंह, सचिव सरदार राजा सिंह, कनीय उपाध्यक्ष टी.पी.एस. ढिल्लन, सांसद एस.एस. अहलुवालिया, उपाध्यक्ष महेन्द्र सिंह छावड़ा, मंजीत सिंह सरला, कल्याण सिंह, पपीन्दर सिंह सलूजा, महेन्द्र पाल सिंह ढिल्लन, अल्पसंख्यक आयोग के उपाध्यक्ष सरदार चरण सिंह, सेवादार समाज के अध्यक्ष त्रिलोक सिंह निषाद आदि कर रहे थे। तख्त साहेब में देर शाम आयोजित कीर्तन दरबार का उद्घाटन संत करमजीत सिंह (यमुनानगर) ने किया। जत्थेदार ज्ञानी इकबाल सिंह, कथावाचक ज्ञानी रणजीत सिंह गौहर ए मस्कीन, संत बाबा तेजा सिंह ने गुरुमहिमा का गुणगान किया। कीर्तन दरबार में हजुरी रागी जत्था भाई जोगिन्दर सिंह, रजिन्दर सिंह, रजनीश सिंह, गुरइकवाल सिंह, नरिन्दरपाल सिंह, ढ़ाढ़ी जत्था भाई गुरुदेव सिंह हीरा (शाहाबाद), चमनजीत सिंह लाल ने भाग लिया। इधर प्रधानग्रंथी भाई राजिन्दर सिंह के नेतृत्व में अखंड पाठ जारी रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बैंडबाजे के साथ निकली भव्य शोभायात्रा