DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

और अब इंटर-कॉरपोरट क्रिकेट

क्रिकेट बोर्ड ने अब इंटर-कॉरपोरट क्रिकेट टूर्नामेंट कराए जाने की पहल की है। इससे क्रिकेटरों को और ज्यादा जॉब के अवसर मिलेंगे। बिजनेस हाउस क्रिकेटरों के लिए नौकरी के दरवाजे खोलेंगे। यह टूर्नामेंट 50 ओवर और 20-20 फॉरमेट में आयोजित होगा। प्रस्तावित इंटर-कॉरपोरट की विजेता टीम को एक करोड़ रुपए जबकि उपविजेता को 50 लाख और सेमीफाइनल में हारने वाली टीमों को 25-25 लाख रुपए मिलेंगे। शनिवार को यहां वर्किंग कमेटी की मीटिंग में बीसीसीआई ने यह फैसला किया। बोर्ड के संयुक्त सचिव और सेलेक्शन कमेटी के पूर्व सदस्य संजय जगदाले को इस टूर्नामेंट के लिए गठित कमेटी का अध्यक्ष बनाया गया है। इसके अन्य सदस्य हैं : के.एस. विश्नाथन, प्रोफेसर आर.एस. शेट्टी, चामुंडेश्वरनाथ, रांीब बिस्वाल और अनिरुद्ध चौधरी। बोर्ड के सचिव एन. श्रीनिवासन ने एक प्रेस विज्ञप्ति में यह जानकारी दी। बोर्ड ने उन रिपोर्टों का खंडन किया है जिनमें स्पांसरों को डिफॉल्टर होना और पेमेंट में देरी करने की बात कही गई है। श्रीनिवासन ने कहा, ‘बीसीसीआई साफ कर देना चाहती है कि उससे संबंधित कोई भी स्पांसर न तो डिफॉल्टर है और न ही किसी ने पेमेंट में देरी की है। बीसीसीआई के हर स्पांसर के साथ अच्छे संबंध हैं।’ मीडिया में एसी भी खबरं छपी थीं कि इंग्लैंड के खिलाफ दो वनडे और पाकिस्तान दौरा रद्द होने से बोर्ड को 120 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। इस पर सफाई देते हुए श्रीनिवासन ने कहा, ‘हां, मौजूदा साल में बोर्ड के रवेन्यू 120 करोड़ रुपए कम हुआ है। इसके पीछे इंग्लैंड के साथ दो वनडे और पाकिस्तान दौरा रद्द होने के साथ-साथ आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी का स्थगित होना भी कारण है। रवेन्यू जरूर कम हुआ है फिर भी मौजूदा साल में बीसीसीआई की खर्चे से ज्यादा कमाई हुई है।’ वर्किंग कमेटी ने छह सब-कमेटियों को रिपोर्ट को भी हरी झंडी दिखा दी। इसमें ग्रेडेशन कमेटी की रिपोर्ट भी शामिल है। कमेटी ने कुछ दिन पहले ही बोर्ड से कांट्रेक्ट किए खिलाड़ियों की नई लिस्ट जारी की थी। पूर्व कप्तान और सेलेक्शन कमेटी के पूर्व चेयरमैन दिलीप वेंगसरकर ने मुम्बई के सबसे ज्यादा रन बनाने वाले और सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ियों क्रमश: अजिंक्य रहाणे और धवल कुलकर्णी को शामिल न किए जाने पर एतराज जताया था। वेंगसरकर ने उम्मीद जाहिर की थी कि वर्किंग कमेटी की जब भी मीटिंग होगी इन दोनों खिलाड़ियों को भी कांट्रेक्टेड खिलाड़ियों की लिस्ट में शामिल कर लिया जाएगा। वर्किंग कमेटी ने अम्पायर कमेटी, फाइनेंस कमेटी, ग्राउंड एंड पिच कमेटी, जूनियर क्रिकेट कमेटी और सीनियर टूर्नामेंट कमेटी की रिपोर्टो को भी हरी झंडी दिखा दी। वर्किंग कमेटी ने तेज गेंदबाजों, स्पिनरों और बल्लेबाजों के लिए विशेष कोचिंग कैंप लगाने का भी फैसला किया। ये कैम्प पंजाब क्रिकेट संग, तमिलनाडु क्रिकेट संघ और मुम्बई क्रिकेट संघ के मैदानों पर लगेंगे। इन कैम्पों के लिए बनाई गई कमेटी के चेयरमैन खुद श्रीनिवासन होंगे। जगदाले, एम.पी. पांडोव, एनसीए के डायरक्टर डेव व्हाटमोर, प्रो. आर.एस. शेट्टी और अनुराग ठाकुर इस कमेटी के अन्य सदस्य होंगे। मीटिंग में यह भी फैसला किया गया कि सदस्य क्रिकेट संघ जूनियर क्रिकेट के लिए और ज्यादा मैदान उपलब्ध कराने की कोशिश करंगे।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: और अब इंटर-कॉरपोरट क्रिकेट