DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ब्रिगेडियर के खिलाफ यौन उत्पीड़न की जांच

पिथौरागढ़ के प्रतिष्ठित जनरल बीसी जोशी आर्मी पब्लिक स्क ूल की प्रधानाचार्या के यौन उत्पीड़न केस में सुप्रीम कोर्ट ने निर्देश दिया है कि मामले की जांच के लिए हाईकोर्ट तीन सदस्यीय यौन उत्पीड़न शिकायत कमेटी का गठन कर। कमेटी की जांच में यदि दोनों आरोपी सैन्य अधिकारी के दोषी पाए जाते हैं तो अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए यह रिपोर्ट सेना को भेजी जाए। यह निर्देश देते हुए सर्वोच्च अदालत ने इस मामले में स्कूल प्रबंधन पर 50 हाार रुपये का जुर्माना भी ठोका है। स्कूल प्रबंधन यह जुर्माना प्रधानाचार्य को वकील की फीस और अन्य खर्च के रूप में अदा करगा। जस्टिस एसबी सिन्हा और सी जोसेफ की खंडपीठ ने यह आदेश उत्तराखंड हाईकोर्ट के आदेश के खिलाफ दायर सैन्य अफसरों की अपील पर जारी किया है। आदेश में खंडपीठ ने कहा कि हाईकोर्ट को बिना जांच किए इस नतीजे पर नहीं पहुंचना चाहिए था कि सैन्य अफसरों के खिलाफ यौन उत्पीड़न का स्पष्ट केस बनता है। इसलिए हाईकोर्ट के आदेश को संशोधित किया जा रहा है और निर्देश दिया जाता है कि हाईकोर्ट एक महिला की अध्यक्षता में यौन उत्पीड़न कमेटी का गठन कर और उचित जांच करवाए।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ब्रिगेडियर के खिलाफ यौन उत्पीड़न की जांच