अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिजली के लिए उपद्रव

विगत दो महीनों से बिजली समस्या से जूझ रहे नवादा वासियों का धर्य आखिर सोमवार को टूट गया। बगैर किसी नेतृत्व के नागरिकों ने आन्दोलन की राह पकड़ी। शहर के अंसार नगर से निकले दस युवकों का जत्था धीर-धीर कारवां में बदलकर आन्दोलन का रूप ले लिया। बिजली की मांग कर रहे उग्र नागरिकों के जत्थे ने शहर में धूम-धूम कर पहले व्यवसायियों से प्रतिष्ठान बंद कर आन्दोलन में सहयोग की अपील की। बिजली की समस्या से जूझ रहे हजारों लोगों का जत्था प्रजातंत्र चौक तथा सद्भावना चौक को पांच घंटे से अधिक समय तक जाम रखा। जाम के कारण मेन रोड पर सैकड़ों वाहनों की लंबी कतार लग गयी। जिला प्रशासन मुर्दाबाद-बिजली विभाग मुर्दाबाद के नारों के साथ उग्र युवकों की टोली बिजली ऑफिस पहुंचकर तोड॥फोड़ की। पथराव कर रहे युवकों की भीड़ को तितर-बितर कराने के लिए पुलिस को लाठियां चलानी पड़ीं। अस्तव्यस्त हुए शहर की विधि-व्यवस्था को सामान्य कराने के लिए एसडीओ अजीत कुमार सत्यार्थी, इंसपेक्टर अरुण कुमार तिवारी व अनि नसीम अहमद काफी समय तक कसरत करते रहे। सद्भावना चौक की कमान रजौली एसडीपीओ अजय कुमार, अकबरपुर थानाध्यक्ष अशोक कुमार व मुफस्सिल थानाध्यक्ष बिजेन्द्र शाही संभाल रहे थे। उग्र युवकों की टोली ने सद्भावना चौक व प्रजातंत्र चौक पर आगजनी कर गुस्से का इजहार किया। नेतृत्व विहीन आन्दोलन को पूरी तरह जनसमर्थन मिला। सब्जी बाजार में बंद समर्थकों व सब्जी विक्रताओं के बीच हल्की झड़प भी हुई। आरा से सं.सू. के अनुसार एकौना पावर ग्रिड पर धरना-प्रदर्शन के मद्देनजर सोमवार को प्रशासन हलकान रहा। जगह-ागह पुलिस की पुख्ता व्यवस्था की गई थी।ड्ढr ड्ढr बिजली विभाग के कार्यालय में भी पुलिस बल तैनात किये गये थे। जिले के वरीय अधिकारी दिन भर स्थिति का जायजा लेने में जुटे रहे। हालांकि शहर में किसी प्रकार का आंदोलन नहीं हुआ। एकौना पावर ग्रिड के पास पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था का इंतजाम प्रशासन ने किया था। आंदोलनकारियों को रोकने के लिए जीरो माइल मोड़ पर भी काफी संख्या में पुलिस बल तैनात किये गये थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बिजली के लिए उपद्रव