DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विधायक का खुलासा देख दंग हुआ परिवार

बसपा विधायक शेखर तिवारी की करतूत जब उसी की जुबानी स्व. मनोज गुप्ता के परिवारीजनों ने देखी-सुनी तो वह हतप्रभ रह गए। 23 दिसम्बर की उस काली रात का सच जब सामने आया तो घर वालों के रोंगटे खड़े हो गए। विधायक अब खुद को नशे में बता रहा है। उसके गुर्गे भी नशे में धुत बताए गए। ये सब कुछ शनिवार को पूरी रात सभी ‘चैनलों’ पर कई बार दिखाया गया। लेकिन स्व. मनोज के बेटे के लिए अभी ये नाकाफी है। प्रतीक प्रांजल कहते हैं कि सार हत्याभियुक्त एक दूसर पर जैसे आरोप थोप रहे हैं। क्या विधायक के हाथ इस मर्डर में सने नहीं हैं? क्या उसके सामने ही कत्ल का खूनी खेल नहीं खेला गया? प्रतीक का मानना है कि सरकार और पुलिस का खुलासा अपनी जगह सही होगा लेकिन वह पूरी चार्ज शीट अच्छी तरह देखना-समझना चाहते हैं। तभी वह इस बार में अगला कोई कदम या बयान देंगे। उधर, पुलिस ने रविवार को शेखर तिवारी से एक बार फिर पूछताछ की। इंजीनियर स्व. मनोज गुप्ता हत्याकाण्ड में पहली बार कत्ल की सच्चाई और गुनहगारों के बयान की खबरिया चैनलों में दिन भर दिखाए गए। स्व. मनोज के घर वाले पूरा दिन टीवी से चिपके रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: विधायक का खुलासा देख दंग हुआ परिवार