DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हमार तो सब चाल रहे,दूसरों का पता नहीं

नगर निगम के साढ़े तीन सौ, बसपा नेता डॉ. अखिलेश दास के 325 औरोिला प्रशासन के 36 अलाव। कुल मिलाकर शहर में सात सौ से यादा अलावोल रहे हैं। फिर भी शहर में इतने अलाव कहीं नार नहीं आ रहे। लोग टायर की आँच से गरमाहट लेने को माबूर हैं। इस बार में हिन्दुस्तान ने अलावोलवाने का दावा करने वाले सभी पक्षों से बात की। सभी का दावा है कि हमार अलाव तो पूरोल रहे हैं। दूसरों के कितनेोल रहे हैं हम नहीं बता सकते। इसी तर्क-वितर्क के बीच उम्मीद भरा पहलू यह सामने आया कि किसी ने अलाव बढ़वाने का दावा किया तो किसी ने स्वयंसेवी संस्थाओं और व्यापारियों से सहयोग लेने की बात कही।ड्ढr महापौर डॉ. दिनेश शर्मा कहते हैं कि नगर निगम के 350 अलावोल रहे हैं। अन्य लोग कहाँ और कितनेोलवा रहे हैं, वह नहीं बता सकते। वह नगर निगम के अलावों के बार में लगातारोानकारी भी ले रहे हैं और मौके परोाकर निरीक्षण भी करंगे। स्वयंसेवी संस्थाओं और व्यापारियों से भी अलावोलवाने एवं कम्बल बँटवाने में मदद की अपील करंगे। बसपा नेता डॉ. अखिलेश दास के समन्वयक सुशील दोषी का कहना है कि वह नियमित रूप से 325 अलावोलवा रहे हैं। मुख्यमंत्री मायावती और श्री दास के निर्देशन में यह काम हो रहा है और वह खुद रोाना इसका निरीक्षण कर रहे हैं। नगर निगम कितनेोलवा रहा है इस बार में कुछ नहीं कह सकते। श्री दास ने अलावों की संख्या और बढ़वाने के लिए कहा है।ोल्द ही अलाव औरोलवाएोाएँगे। उधरोिलाधिकारी चन्द्रभानु का कहना है कि अभी तक 36 अलावोल रहे थे। अब 20 औरोला दिए गए हैं। अधिकारियों को निर्देश दे दिए गए हैं किोहाँ भी सार्वानिक स्थल पर अलाव कीोरूरत हो वहाँोलवाएोाएँ। लोग ऐसे सार्वानिक स्थलों की सूचना पुलिस कंट्रोल रूम नं.-100 पर दे सकते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हमार तो सब चाल रहे,दूसरों का पता नहीं