अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बुनियादी सुविधाओं के लिए हल्लाबोल आंदोलन होगा

नयासराय में रविवार को 45 गांवों के विस्थापितों की महापंचायत बैठी, जिसमें बुनियादी सुविधाओं के लिए हल्लाबोल आंदोलन का निर्णय लिया गया। तय हुआ कि सरकार और प्रशासन की आंख-कान खोलने के लिए उपायुक्त और रातू प्रखंड कार्यालय पर जोरदार प्रदर्शन किया जायेगा। महापंचायत में मुख्य अतिथि के रूप में अंसारी महापंचायत के प्रो रिावान और विशिष्ट अतिथि के रूप में मंजूर अली अंसारी उपस्थित थे। इसमें विस्थापितों की दैनिक समस्याओं को लेकर जन सुनवाई हुई। पंचायत की अध्यक्षता महापंचायत के नेता सलामत अंसारी ने की। जनसुनवाई के दौरान सबने कहा कि राज्य गठन के बाद से ही विस्थापितों को उनके वाजिब अधिकारों से वंचित रखा गया है। योजनाओं के लिए जमीन देकर वे अपने ही घर में बेगाने बने हैं। इंदिरा आवास, वृद्धापेंशन, राशन कार्ड, अंत्योदय ग्रामीण योजना, नरगा, लाल, पीला कार्ड की योजनाओं के लाभ से विस्थापित वंचित हैं। यहां तक कि बीपीएल सूची में विस्थापितों के नाम दर्ज नहीं किये गये हैं। इन समस्याओं को लेकर सर्वसम्मति से हल्ला बोल आंदोलन की सहमति बनी।ड्ढr महापंचायत में आरिफ आशियाना, डॉ जमाल अहमद, अफरो आलम, खुर्शीद आलम, विजय लोहरा, शंकर गाड़ी, अजरुन मंगरा, समीर अंसारी, सोनी देवी, कोयली उराइन, इस्लाम अंसारी, शनिफ अंसारी, तबरा आलम, सुहैल अंसारी सहित सैकड़ों लोग उपस्थित थे।ड्ढr महासंघ का धरना नौ सेड्ढr रांची। झारखंड राज्य कर्मचारी महासंघ की बैठक में मांगों को लेकर वित्त मंत्री के आवास के समक्ष दो दिवसीय धरना देने का निर्णय लिया गया। धरना नौ और 10 जनवरी को होगा। महासंघ के राज्याध्यक्ष शैलेंद्र कुमार ने बताया कि 11 जनवरी की बैठक में झारखंड शिक्षक कर्मचारी संघर्ष समिति की अनिश्चितकालीन हड़ताल की तिथि घोषित की जायेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बुनियादी सुविधाओं के लिए हल्लाबोल आंदोलन होगा