अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजनीतिक दबाव में नहीं होगा अधिकारियों का तबादल

अधिकारियों का तबादला अब राजनीतिक दबाव में नहीं किया जायेगा। तबादला नियमों के अनुसार होगा और प्रावधानों का पालन किया जायेगा। यह अंडरटेकिंग सरकार ने छह जनवरी को एक जनहित याचिका की सुनवाई के दौरान कोर्ट को दिया। इसके बाद जस्टिस एमवाइ इकबाल और जस्टिस जया राय की अदालत ने याचिका निष्पादित कर दी। कोर्ट ने कहा कि चूंकि यह मामला अप्रासंगिक हो गया है। इस कारण महाधिवक्ता की इस अंडरटेकिंग के बाद याचिका निष्पादित की जाती है।ड्ढr यह जनहित याचिका अशोक कुमार भारती ने दायर की थी। इसमें जमशेदपुर के तत्कालीन डीसी, एसडीओ और एक थाना प्रभारी के तबादले को चुनौती दी गयी थी। प्रार्थी का कहना था कि कोर्ट के आदेश का पालन करते हुए इन अधिकारियों ने झामुमो कार्यकर्ताओं को जमशेदपुर के गणेश मैदान में पूर्व सांसद सुनील महतो की प्रतिमा स्थापित करने से रोका था। इसके बाद जमशेदपुर की सांसद सुमन महतो और पार्टी के कार्यकर्ताओं ने अधिकारियों से र्दुव्‍यवहार किया था। राजनीतिक दबाव पर इन अधिकारियों का देर रात तबादला कर दिया गया और 24 घंटे के अंदर ही विरमित भी कर दिया गया। प्रार्थी ने तबादला नियमों के अनुसार करने का आग्रह किया था। सुनवाई के बाद कोर्ट ने कहा कि चूंकि यह मामला अब अप्रासंगिक हो गया है। इस कारण कोर्ट इसमें हस्तक्षेप नहीं करगी। सरकार ने इस मामले में अंडरटेकिंग दिया है। इस आलोक में याचिका निष्पादित की जाती है। प्रार्थी की ओर से सीनियर एडवोकेट पीपीएन राय और पांडेय अशोक नाथ राय ने बहस की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राजनीतिक दबाव में नहीं होगा अधिकारियों का तबादल