DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एचइसीकर्मियों को अब आवश्यकतानुसार प्रोमोशन

एचइसी के कर्मचारियों को भविष्य में अब आसानी से प्रोमोशन नहीं मिलेगा। प्रबंधन कालबद्ध प्रोमोशन नीति की समीक्षा कर रहा है। संभावना है कि अब आवश्यकतानुसार ही पदोन्नति दी जायेगी। एचइसी में कर्मचारियों के पिरामिड का संतुलन बनाये रखने के लिए ऐसा किया जा रहा है। भारी उद्योग मंत्रालय ने इसके लिए प्रबंधन को निर्देश दिया है। इसी के आलोक में प्रबंधन योजना तैयार की है।ड्ढr एचइसी में फिलहाल करीब 2800 कर्मचारी हैं। इनमें 1250 अधिकारी हैं। प्रबंधन सूत्रों के अनुसार कर्मचारियों व अधिकारियों के बीच संतुलन बनाये रखने के लिए ही इस बार कम लोगों को प्रोमोशन मिला है। एचइसी में कामगारों को कालबद्ध प्रोन्नति देने की व्यवस्था थी। जबकि पूर्व में नीड बेस्ड प्रोमोशन मिलता था। अब एक बार फिर इसी व्यवस्था को लागू किया जायेगा। यही कारण है कि इस बार काफी कम लोगों को प्रोमोशन मिला है।ड्ढr मोरचा की प्रबंधन से वार्ताड्ढr एचइसी संघर्ष मोरचा ने स्पष्ट कहा है कि यदि आठ जनवरी तक कामगारों की पदोन्नति की गड़बड़ी दूर नहीं हुई, तो कामगार आंदोलन करंगे। इसका असर उत्पादन पर भी पड़ेगा। मोरचा के नेताओं ने छह जनवरी को इस मामले में प्रबंधन के साथ वार्ता भी की। प्रबंधन ने उन्हें कहा कि कामगार-अधिकारी संतुलन बनाने का निर्देश मिला है। इस कारण इसे ध्यान में रखते हुए ही काम हो रहा है। इस पर मोरचा के नेताओं ने कहा कि स्वर्ण जयंती वर्ष पर कामगारों को तोहफा के बदले कटौती की जा रही है, यह उचित नहीं है। मोरचा की मांग पर प्रबंधन ने इस पर विचार करने का आश्वासन दिया। वार्ता में सीएमडी जीके पिल्लई, कार्मिक निदेशक एमआर वेणुगोपाल, कार्मिक प्रमुख एसी देवघरिया एवं मोरचा की ओर से लालदेव सिंह, एसबी स्वांसी, वीरंद्र सिंह, राजेंद्र राम, रामकुमार नायक शामिल हुए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एचइसीकर्मियों को अब आवश्यकतानुसार प्रोमोशन