DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फर्जी सर्टिफिकेट के रैकेट का भंडाफोड़

मैट्रिक से स्नातक तक के फर्जी सर्टिफिकेट देने वाले रैकेट का भंडाफोड़ करने में नालंदा पुलिस को सफलता मिली है। पुलिस ने करीब एक लाख से अधिक पूर्ण व अपूर्ण सर्टिफिकेट बरामद कर तीन लोगों को दबोचा है। पुलिस अधीक्षक विनीत विनायक एवं डीएसपी एके सत्यार्थी ने बताया कि बिहार संस्कृत शिक्षा बोर्ड, पटना, हिन्दी विद्यापीठ, देवघर, प्रयाग महिला विद्यापीठ व हिन्दी साहित्य सम्मेलन, इलाहाबाद समेत अन्य संस्थानों के मैट्रिक, इंटरमीडिएट, स्नातक तथा समकक्ष डिग्रियों के फर्जी प्रमाणपत्र बनाने के कारोबार की भनक मिलते ही पुलिस सक्रिय हुई।ड्ढr ड्ढr एक घंटे के अंदर संभावित पांच ठिकानों पर छापेमारी कर एक लाख से अधिक फर्जी प्रमाणपत्रों के साथ स्थानीय सिपाह निवासी रिटायर्ड शिक्षक द्वारिका प्रसाद, उनके दामाद भगवान दास (रानीसराय, गिरियक ) व नाती शशिकांत ज्योति को गिरफ्तार किया गया है। छापेमारी में मध्य विद्यालय, नूरसराय, राजगीर, सोहसराय, स्वामी इंसदेव मुनि उदासीन संस्कृत महाविद्यालय, अयोध्या प्रसाद महिला इंटरमीडिएट महाविद्यालय समेत कई अन्य सरकारी संस्थानों के परित्याग प्रमाणपत्र की पुस्तिकाएं भी बरामद की गयीं हैं। संस्थानों के मोहर के साथ कम्प्यूटर प्रिंटर व स्कैनर भी बरामद किए गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: फर्जी सर्टिफिकेट के रैकेट का भंडाफोड़