अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अधर में सत्यम के कर्मी:जनवरी के वेतन के लिए पैसे नहीं

सत्यम के पास 53,000 कर्मचारियों की तनख्वाह देने लायक भी नकदी नहीं बची है, लेकिन जल्द ही इसका इंतजाम कर लिया जाएगा। गुरुवार शाम को प्रेस वार्ता में इस बात का खुलासा करते हुए सत्यम कंप्यूटर के अंतरिम सीईओ राम मिनापति ने कहा कि सत्यम कंप्यूटर्स की कमान संभालने वालों की प्राथमिक वरीयता कर्मचारियों की रोी-रोटी बचाना होगी। कंपनी का काम सुचारू रूप से चलाने पर उनका फोकस रहेगा।ड्ढr ड्ढr बुधवार को रामलिंगा राजू के विस्फोटक खुलासे और इस्तीफे के ठीक अगले दिन अंतरिम सीईओ ने कहा कि कंपनी बोर्ड ने राजस्व से जुड़े ऑडिट डाटा पर भरोसा किया और उन्हें किसी भी प्रकार के घोटाले का पता नहीं था। मिनापति ने बताया कि घोटाले की जानकारी मिलते ही मुझे भी झटका लगा था। वित्तीय अनियमितताओं को जल्द दूर करने की बात भी उन्होंने कही। बोर्ड के लिए नए सदस्यों की तलाश की जानकारी देते हुए मिनापति ने कहा कि उन्हें नहीं पता कि राजू फिलहाल कहां हैं? उन्होंने कहा कि बोर्ड के समक्ष पहला काम निवेशक बैंकर की नियुक्ित करना और शेयरधारकों तथा अन्य पक्षों को देखना है। बोर्ड ग्राहकों और शेयरधारकों के हितों को ध्यान में रखते हुए बैंकर की सलाह पर काम करगा। दूसरी तरफ, दिसंबर माह के वेतन वितरण के बावजूद कुछ लोगों का कहना है कि कंपनी की 500 करोड़ रु. की जरूरत को पूरा करने के लिए दस हाार कर्मियों की छंटनी करनी होगी। उधर, न्यूयॉर्क स्टाक एक्सचेंज ने सत्यम के शेयरों के कारोबार पर रोक लगा दी है और कहा है कि मामले की विस्तृत जांच की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अधर में सत्यम के कर्मी:जनवरी के वेतन के लिए पैसे नहीं