DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुद्रा स्फिति 5.91 प्रतिशत पर पहुंची

देश में मुद्रा स्फीति की दर में गिरावट जारी है। गत 27 दिसम्बर को समाप्त हुए सप्ताह में यह दर और घटकर 5.ीसदी पर आ गई, जबकि इससे पिछले सप्ताह यह दर 6.38 फीसदी थी। केंद्रीय उद्योग एवं वाणिज्य मंत्रालय द्वारा जारी की जाने वाली यह दर पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में महज 3.83 फीसदी थी। बीते 27 दिसम्बर को समाप्त हुए सप्ताह के दौरान सभी कमोडिटीज के थोक मूल्य सूचकांक में 0.3 फीसदी की गिरावट आई और यह 230.2 अंक से घटकर 22अंक पर आ गया हालांकि ये दोनों ही आंकड़े अस्थाई हैं। प्राथमिक वस्तुओं के सूचकांक में भी 0.5 फीसदी की गिरावट आई और यह पिछले सप्ताह के 248.8 अंक से घटकर 247.5 अंकों पर आ गया। इसी तरह विनिर्मित वस्तुओं के सूचकांक में 0.3 फीसदी की गिरावट आई और यह 201.4 अंकों से घटकर 200.8 अंक पर आ गया। ईंधन, बिजली और स्नेहकों के सूचकांक में कोई परिवर्तन नहीं आया और ये 330.5 अंक पर स्थिर रहे। अर्थशास्त्रियों की राय में मुद्रा स्फीति की दर में गिरावट का प्रमुख कारण मौद्रिक नीतियों में की गई कड़ाई और ईंधन की कीमतों में आई गिरावट है। दिल्ली स्थित नेशनल काउंसिल ऑफ अप्लाइड इकोनोमिक्स रिसर्च (एनसीएईआर) के प्रमुख दिलीप कुमार ने कहा कि कीमतों का गिरना जारी रहेगा और आगामी मार्च तक मुद्रा स्फीति की दर दो फीसदी के आसपास हो जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मुद्रा स्फिति 5.91 प्रतिशत पर पहुंची