DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सोमदेव ने रचा इतिहास, पहुंचे अंतिम 4 में

भारत के सोमदेव देववर्मन ने इतिहास रचते हुए लगातार दूसरी सनसनीखेज जीत के साथ चेन्नई ओपन के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है। उन्होंने लगातार दूसर दिन दूसरा उलटफेर करते हुए क्वार्टर फाइनल मुकाबले में चौथी वरीयता प्राप्त क्रोएशिया के इवो कार्लोविच को 7-6 (7-4), 6-4 से शिकस्त देकर सेमीफाइनल में जगह बना ली। गुरुवार को सोमदेव ने छठी वरीयता के पूर्व नम्बर वन कोर्लोस मोया को हराया था। वर्जिनिया विश्वविद्यालय के लिए 2006 और 2007 में एनसीएए कॉलेजिएट खिताब जीतने वाले 23 वर्षीय सोमदेव को इस टूर्नामेंट में वाइल्ड कार्ड से प्रवेश मिला था। इस तरह सोमदेव 1में लिएंडर पेस के बाद चेन्नई ओपन के सेमीफाइनल में पहुंचने वाले पहले भारतीय बन गए हैं। अब चार लाख पचास हाार डॉलर की एटीपी चैंपियनशिप के फाइनल में जगह बनाने के लिए उनकी टक्कर पांचवीं वरीयता प्राप्त जर्मनी के रनर शुटलर से होगी, जिन्होंने दूसर क्वार्टर फाइनल में हमवतन बिजोर्न फाऊ को 6-2, 7-5 से हराया। दूसरा सेमीफाइनल तीसरी वरीयता प्राप्त क्रोएशिया के मारिन सिलिच और आठवीं वरीयता प्राप्त स्पेन के मार्सेल ग्रेनोलर्स के बीच खेला जाएगा। एड़ी की चोट के कारण टॉप सीड निकोलई देवीदेकों के टूर्नामेंट से हट जाने के बाद खिताब के प्रबल दावेदार माने जा रहे तीसर वरीय सिलिच ने क्वार्टर फाइनल में सातवीं वरीयता प्राप्त सर्बिया के यांको टिपसारेविच को तीन सेटों में 6-4, 0-6, 6-4 से हराया। दूसरी ओर ग्रेनोलर्स ने चेक गणराज्य के लुकास ड्लोही को 7-5, 2-6, 6-4 से शिकस्त देकर अंतिम चार में जगह पक्की की। विश्व में 202वें नंबर के खिलाड़ी सोमदेव देवबर्मन के करियर का ये पहला एटीपी सेमीफाइनल है। वह बहुत तेजी से देश के नम्बर एक खिलाड़ी बने हैं और अब उनकी इस जीत से भारतीय टेनिस में नई जान आई है। उन्होंने दूसर सेट के दसवें गेम में ही पहला ब्रेक मिला। उन्हें घरलू मैदान पर स्थानीय दर्शकों का समर्थन भी मिला।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सोमदेव ने रचा इतिहास, पहुंचे अंतिम 4 में