DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डॉक्टरों के ट्रांसफर का असर मरीचा पर

सीसीएल के निदेशक वित्त डॉ एके सरकार ने कहा कि डॉक्टरों का ट्रांसफर नहीं होना चाहिये। ऐसा होने से उनके साथ-साथ मरीाों को भी परशानी होती है। उन्होंने इस मुद्दे को निदेशकों की बैठक में उठाने की अपील भी डीपी से की। उन्होंने कहा कि इस तरह की गैदरिंग सिर्फ डॉक्टरों के कांफ्रेंस में ही देखने को मिलती है। वह आपस में जानकारियों का भी अदान-प्रदान करते हैं। यह अपने आप में अच्छी बात है। वह आइआइसीएम में नौ जनवरी से सीसीएल के तत्वावधान में शुरू हुए कोल इंडिया मेडिकल कांफ्रेंस सिमीकॉन-0में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे।ड्ढr निदेशक कार्मिक टीके चांद ने विशेषज्ञ एवं गैर विशेषज्ञ दोनों तरह के चिकित्सकों को ट्रेनिंग दिये जाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि डॉक्टर सीसीएल की ओर से शुरू किये गये ऑपरशन ज्योति, गर्ल्स चाइल्ड प्रोमोशन, कमांड एरिया में बीपीएल परिवार को चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने में भी अहम् भूमिका निभा सकते हैं। इडी मेडिकल डॉ ओपी सक्सेना ने मेडिकल को बढ़ावा दिये जाने पर जोर दिया। इस अवसर पर अतिथियों का स्वागत सीएमएस डॉ एसके श्रीवास्तव एवं धन्यवाद ज्ञापन सीएमओ डॉ केएन मानसिंह ने किया।ड्ढr पत्रिका का लोकार्पणड्ढr कांफ्रेंस के दौरान पत्रिका का लोकार्पण डॉ एके सरकार, टीके चांद एवं डॉ ओपी सक्सेना ने किया। इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम भी हुआ। बेहतर योगदान के लिए दो रिटायर्ड इडी डॉ एसआर धर और डॉ एमपी सिंह सम्मानित किये गये।ड्ढr कई पेपर प्रस्तुतड्ढr चेयरमैन अवार्ड के लिए तीन, डॉ एमपी सिंह अवार्ड के लिए छह और डा. के कुमार अवार्ड के लिए पांच तकनीकी पेपर प्रस्तुत किये गये। हैदराबाद के डॉ निर्मल कुमार और डॉ श्रीनिवास, मिलिट्री हॉस्पिटल के डॉ पीके साहू ने अपने विचार रखें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: डॉक्टरों के ट्रांसफर का असर मरीचा पर