DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चंपई को माला पहनाने की लगी थी होड़

बदली राजनीतिक परिस्थितियों में साढ़े चार घंटे तक चली झामुमो केंद्रीय कार्यकारिणी की बैठक गहमागहमी भरी रही। बैठक के बार में कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी गयी, लेकिन बंद कमर से जो बातें छन कर बाहर निकली और जो परिदृश्य दिखे, उसमें साफ संकेत मिले हैं कि चंपई सोरन को झामुमो की ओर से नये मुख्यमंत्री के रूप में प्रोजेक्ट किया गया है। बैठक में यह तय हुआ कि किसी भी सूरत में सीएम झामुमो कोटा से ही होगा। इससे कम में झामुमो नहीं मानेगा।ड्ढr इधर रात में एक टीवी चैनल से शिबू सोरन ने कहा कि मेरे परिवार से कोई सीएम नहीं बनेगा। क्योंकि कोई विधायक नहीं है। झामुमो का विधायक ही सीएम बनेगा। इसके लिए नाम तय हो गया है। उन्होंने बताया कि तीन राउंड में बैठक कर सहमति बनी है। दिल्ली से आने के बाद ही नाम का खुलासा करंगे। उधर जमशेदपुर के जिलिंगगोड़ा में जश्न का माहौल है। आतिशबाजियां हो रही है। पटाखे फूट रहे हैं। लोग जश्न में डूबे हैं। उधर झामुमो सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक दिल्ली में नये नेता का नाम रखने और सहयोगी दलों का समर्थन मिलने पर आश्वस्त होने के बाद शिबू सोरन अपना इस्तीफा सौंप देंगे। सरायकेला के विधायक चंपई सोरन झामुमो विधायक दल के नेता भी हैं। बैठक में झामुमो के सभी 17 विधायक, सासंद टेकलाल महतो के अलावा केंद्रीय कार्यकारिणी के पदाधिकारी शामिल थे। इस्तीफा देने वाले विधायक विष्णु भैया भी बैठक में शामिल हुए। बैठक में नये नेता के रूप में कई नाम सामने भी आये। इनमें दुर्गा सोरन, नलिन सोरन और दुलाल भुइंया के नाम प्रमुख हैं। नाम को लेकर काफी देर तक मगजमारी हुई।ड्ढr कांके रोड स्थित हॉटलिप्स बैक्वेंट हॉल से बाहर निकलने पर नेताओं में चंपई सोरन को माला पहनाने की भी होड़ थी। उन्हें हाथ मिलाकर बधाई दी जा रही थी। चंपई के समर्थक विक्टरी साइन दिखा रहे थे। सबसे आखिरी में चंपई ही लौटे। नेताओं के बीच चर्चा आम थी कि चंपई सोरन को नया नेता चुन लिया गया है। इसके पहले शनिवार को दोपहर शिबू सोरन सेवा विमान से दिल्ली से लौटे। उनके साथ मंत्री बंधु तिर्की और पूर्व सीएम मधु कोड़ा भी थे।ड्ढr रांची लौैटने के बाद सीएम सीधे अपने आवास चले गये। आवास में कुछ देर रहने के बाद सोरन चार बजे बैठक स्थल पहुंचे। बाहर पार्टी के नेताओं-कार्यकर्ताओं की भीड़ जमी थी। सब अलग-अलग चर्चा कर रहे थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चंपई को माला पहनाने की लगी थी होड़