अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पटरी पर नहीं आया हैदराबादी पैटर्न

आखिरकार चुनिन्दा इलाकों में घर-घर से कूड़ा उठने की शुरुआत हुई लेकिन कई अड़चनों के साथ। पुराने सफाई कर्मियों और कूड़ा बीनने वालों के बीच इस बात को लेकर विवाद भी हो रहा है। वहीं गोमती नगर में तो मुफ्त में कूड़ा उठवाने का वादा नगर निगम ने किया था लेकिन यहाँ कुछ गिने-चुने घरों से ही कूड़ा उठ रहा है।ड्ढr नगर निगम ने वादा किया था कि एकोनवरी से हैदराबाद पैटर्न पर घर-घर से कूड़ा उठवायाोाएगा। साल के पहले दिन ही इस काम में कूड़ा बीनने वालों को इसके लिए रिक्शा ट्रॉली और हत्थू ठेले भी बाँटे गए थे लेकिन नई व्यवस्था अभी पटरी पर नहीं आ पाई है। यह व्यवस्था महानगर, इन्दिरानगर, विकासनगर और अलीगां से शुरू होनी थी। लोग इन्ताार करते रहे लेकिन हफ्ते भर तक तो कोई कूड़ा उठाने आया ही नहीं। इन इलाकों में अब कुछ घरों में कूड़ा उठाने लोग आ रहे हैं। कई लोगों के यहाँ अब भी निाी सफाई कर्मी ही कूड़ा उठा रहे हैं। इब्राहिमपुर के रााीव तिवारी बताते हैं कि उनके यहाँ भी पुराने सफाईकर्मी ही कूड़ा उठा रहे हैं। यही हाल महानगर, विकासनगर और खुर्रमनगर का भी है। वहीं गोमतीनगर में होराक्षिन संस्था ने मुफ्त में कूड़ा उठवाने का वादा किया था। इस पर नगर निगम ने संस्था को घर-घर से कूड़ा उठवाने काोिम्मा सौंपा है। इस बार में अपर नगर आयुक्त कहते हैं कि वह नई व्यवस्था पर नार रखे हैं।ोल्द ही व्यवस्था पटरी पर आोाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पटरी पर नहीं आया हैदराबादी पैटर्न