DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूबे में 10 एग्री बिजनेस सेंटर इसी साल बनेंगे

राज्य में इसी वर्ष दस एग्री बिजनेस सेन्टर बनाये जाएंगें। किसानों की जेब भरने की यह कवायद उद्योग विभाग द्वारा की जा रही है। विभाग को राज्य में एक सौ एग्री बिजनेस सेंटर बनाने हैं। लेकिन विभाग ने दस केन्द्रों का स्थान निर्धारित कर दिया है जिन्हें इसी वर्ष शुरू करना है। सात सेन्टरों के डीपीआर तैयार कर लिये गये हैं। पीपीपी मोड में बनने वाले इन केन्द्रों के लिए कंपनियों का भी चयन कर लिया गया है। कुछ के लिए तो जमीन भी मिल गई है। भागलपुर प्रमंडल में चार ऐसे केन्द्र बनाये जाएंगे तो बेतिया, समस्तीपुर के मंगलगढ़, पूर्वी चंपारण के नरकटियागंज, बेगूसराय जिले के बरौनी, मुजफ्फरपुर के बहादुरपुर, पूर्णिया के मरंगा और छपरा के एकमा में ये केन्द्र खोले जाने हैं। बिजनेस सेंटर बनाने वाली कंपनियां किसानों को खाद, बीज, कीटनाशक तो उपलब्ध करायेंगी ही उनके पास कृषि उपकरणों का बैंक भी होगा जिसे किसान भाड़े पर ले सकते हैं। बदले में किसान उन्हें अपना उत्पाद बेच देंगे। अगर बाजार में उनको ज्यादा कीमत मिलेगी तो वे कंपनी को अपना उत्पाद बेचने को बाध्य नहीं होंगे। ऐसे किसानों को खेती पर किया गया खर्च कंपनियों को लौटाना होगा। कंपनी किसानों के उत्पाद को खेत पर ही खरीद लेगी। उनके पास अपने केन्द्र में अत्याधुनिक कोल्ड स्टोरा और कन्ट्रोल्ड एटमोसफियर चैम्बर के अलावा हर तरह की अत्याधुनिक सुविधा होगी ताकि विश्व बाजार में कीमत कम होने पर अपने माल को रख सकें। अाईएलएफएस नामक संस्था इस काम में सरकार की मदद कर रही है। इस संस्था ने लगभग सात केन्द्रों का डीपीआर तैयार कर लिया है। उम्मीद है कि फरवरी माह तक ये डीपीआर सरकार मिल जायेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सूबे में 10 एग्री बिजनेस सेंटर इसी साल बनेंगे