अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूचना का अधिकार है ब्रह्मास्त्र

पनप रही है अपराध भावना सोहणी सिटी में अपराध का ग्राफ दिन-प्रतिदिन बढ़ रहा है। चोरी और स्नैचिंग तो आए दिन कहीं न कहीं होती रहती है, लेकिन इन वारदातों के पीछे अब बच्चों का हाथ होना बेहद चिंता का विषय है। चंडीगढ़ के सेक्टर-35 में भी दो स्कूली बच्चों को स्नैचिंग के केस में पकड़ा गया। बच्चों में अपराध भावना पनप रही है। इसके जिम्मेदार कहीं न कहीं अभिभावक भी हैं। बच्चों में अच्छे संस्कार डालने में वे नाकाम साबित हो रहे हैं। मोहित सक्सेना, सेक्टर-45, चंडीगढ़ बंद न होने पाएं उद्योग-धंधे आर्थिक मंदी और ट्रकों की हड़ताल का असर पंजाब और हरियाणा पर भी नजर आने लगा है। कई उद्योग-धंधों परड्ढr तलवार लटकने लगी है। कई कंपनियों ने तो कर्मचारियों को लंबी छुट्टी पर भेज दिया है। हाारों परिवारों का भविष्य संकट में है। ऐसे में उद्योग-धंधे बंद न होने पाएं, इसके लिए सरकार को तत्काल जरूरी कदम उठाने चाहिए। ट्रांसपोर्टरों की हड़ताल को जल्द से जल्द खत्म करने का प्रयास होना चाहिए। मंदी के असर से निपटने के लिए विशेष पैकेा दिया जाना चाहिए। गुलशन ठाकुर, पंचकूला सुलभ हो स्वच्छ जल आज विकास की लहर गांव-गांव, घाटी-घाटी तक पहुंचाने की बात मात्र कागजी दस्तावेजों तथा चुनावी मुद्दों तक सीमित रहती है। यदि नजर डालें तो दूरदराज पहाड़ों में तो मां गंगा के उद्गमस्थल ही पानी से महरूम हैं। गोपेश्वर के दशोली ब्लाक के हरमनी के आस-पास से दूषित जल एकत्रित करते ग्रामीण गांव-गांव में पानी की स्थिति बयां करते हैं। आज पहाड़ों में पाणी-पन्धेर दिन-प्रतिदिन सूखते जा रहे हैं। इस दिशा में केन्द्र सरकार की स्वजल योजना सचमुच सराहनीय है, परन्तु इतना ही पर्याप्त नहीं है। सरकार को जलस्रेतों को रिचार्ज करने के लिए उनके ऊपर वन लगाने के लिए जनता को प्रेरित करना चाहिए। अश्विनी गौड़, अगस्त्यमुनि धन का स्रेत पता करं सपा नेता-राज्यसभा सांसद अमरसिंह ने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बिल क्िलंटन के धर्मार्थ संगठन फाउंडेशन को 15 लाख डालर दान में दिये हैं। फाउंडेशन में दानदाताओं की प्रकाशित सूची में भारत के अनेक उद्योगपतियों, अमीरों के भी नाम शामिल हैं। आयकर विभाग, प्रदेश तथा केन्द्र सरकारों से निवेदन है कि वह जांच करके संसद व जनता को बताएं कि यह धन किन स्रेतों से अमरसिंह आदि को प्राप्त हुआ है। इन महानुभावों ने अमेरिका के इस संगठन को ही क्यों दान दिया है जबकि देश में ऐसे अनेक संस्थान हैं जो गरीबों और रोगियों की सेवा करते हैं। राजकुमार शर्मा, ज्वालापुर, हरिद्वार आतंकवाद हिन्दू, तुस्लिम, सिक्ख, ईसाई, भारत मां के चार सिपाहीड्ढr सब मिल रक्षा करो वतन की, झेल चुके हम बहुत तबाही। ‘गजब’ गोरखपुरी, गुलाबीबाग, दिल्ली

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सूचना का अधिकार है ब्रह्मास्त्र