अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नेपाल में महिला पत्रकार की हत्या

नेपाल में लैंगिक समानता और महिला अधिकारों को अपनी सर्वोच्च प्राथमिकता बताने वाली माओवादी पार्टी के शासन में ही एक महिला पत्रकार की निर्मम हत्या कर दी गई है और इससे यहां की पवित्र नगरी जनकपुर में भयंकर तनाव व्याप्त है। हथियारबंद अपराधियों के एक बड़े समूह ने रविवार को 26 वर्षीया पत्रकार उमा सिंह के जनकपुर स्थित आवास पर हमला बोलकर उन्हें गंभीर रूप से घायल कर दिया। अस्पताल ले जाते समय पत्रकार की मौत हो गई। सिंह जनकपुर टूडे से जुड़ी रडिया पत्रकार थीं। सिंह की हत्या नेपाल में किसी पहली महिला पत्रकार की हत्या है। इस हत्याकांड से सीता की जन्मभूमि भारी तनाव में है। सोमवार सुबह से ही जनकपुर के सभी छह एफ.एम. रडियो स्टेशनों से शोक धुन बजाया जा रहा है और किसी ने भी मनोरांन संबंधी कोई कार्यक्रम और समाचार का प्रसारण नहीं किया है। फेडरशन ऑफ नेपाली जर्नलिस्ट्स की धनुषा इकाई के नेताओं ने मुख्य जिला अधिकारी शंभू कोईराला से मिलकर हत्यारों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की है। हालांकि पुलिस ने अभी तक इस हथियारबंद गिरोह की पहचान नहीं की है, लेकिन उमा के परिानों के मुताबिक उनकी हत्या काठमांडू की एक पत्रिका में उनके द्वारा लिखे एक लेख के कारण हुई है। तीन साल पहले उमा सिंह के पिता और बड़े भाई भी सिराहा जिले के मिरचइया गांव से गायब हो गए थे। इन दोनों को गायब करने के लिए तब से ही उमा सिंह का परिवार माओवादियों को जिम्मेदार ठहरा रहा है। उमा सिंह के हत्यारों की तत्काल गिरफ्तारी को लेकर पत्रकारों ने भी जिला प्रशासन दफ्तर और जिला पुलिस दफ्तर पर धरना- प्रदर्शन किया और प्रधानमंत्री प्रचंड तथा गृहमंत्री बामदेव गौतम के इस्तीफे की मांग की। जनकपुर में उस समय भी तनाव व्याप्त हो गया, जब एक अज्ञात गिरोह ने एक अन्य महिला पत्रकार मनिका झा को धमकी दी। पत्रकारों ने झा के लिए विशेष सुरक्षा दिलाने की मांग की है। प्रदर्शन जनकपुर के नजदीकी महोत्तरी, सरलाही, सिंधुली, सिराहा और सपतारी जिलों में भी हुए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नेपाल में महिला पत्रकार की हत्या