DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सत्यम के बेलआउट पर विचार

सत्यम कंप्यूटर सर्विसेज के नवनियुक्त बोर्ड ने सोमवार को कहा कि घोटाले में डूबी कंपनी के लिए एक नया मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) खोजना और इसकी वित्तीय साख को बहाल करना उसकी पहली प्राथमिकता है। इस दिशा में प्रतिस्पद्र्धी कंपनियों का विलय भी एक विकल्प है जिसपर विचार किया जा रहा है। कामकाज संभालने के पहले दिन बोर्ड के तीनों सदस्य सोमवार को हैदराबाद पहुंचे। यहां इन्होंने सत्यम कंपनी के अधिकारियों के साथ त्वरित समीक्षा बैठक की और मीडिया को भी संबोधित किया। अपने कर्मचारियों और ग्राहकों के बीच विश्वसनीयता बहाल करने और उसकी भावना के बार में बात करने के प्रयास में बोर्ड ने यह कदम उठाए हैं। मीडिया के समक्ष बोर्ड के सदस्यों ने बड़े नपे-तुले शब्दों का ही प्रयोग किया। उन्होंने आशावादिता प्रकट की लेकिन उन चुनौतियों को भी नजरअंदाज नहीं किया जो कंपनी के सिर पर इस समय आ पड़ी हैं। सत्यम को पटरी पर लाने के लिए उन्होंने कोई समय सीमा तय नही की लेकिन इसके लिए बेहतर प्रयास करने का भरोसा जरूर दिलाया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सत्यम के बेलआउट पर विचार