DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गाजा में कोई स्थान सुरक्षित नहीं : यूएन

संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि गाजा में इजरायली सैन्य कार्रवाई तेज होने के बाद अब कोई भी स्थान नागरिकों के लिए सुरक्षित नहीं रह गया है। गाजा के संयुक्त राष्ट्र राहत कार्य एजेंसी के निदेशक जॉन गिंग ने अतंर्राष्ट्रीय समुदाय से फिलिस्तीनी नागरिकों की रक्षा करने का आह्वान किया है। उन्होंने वीडियों लिंक के जरिए मंगलवार को जिनेवा में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि गाजा में सैन्य अभियान के और तेज होने के बाद 15 लाख की आबादी वाले गाजा में अब कोई भी स्थान नागरिकों के लिए सुरक्षित नहीं रहा गया है। यह संघर्ष अब मानवता की परीक्षा ले रहा है। गाजा के नागरिक जो मुझसे पहली और आखिरी बात कहते हैं वह यह है कि कृपया हमें सुरक्षा मुहैया कराइए। अब हमारे लिए कोई भी जगह सुरक्षित नहीं बची है। इजरायली टैंक और सैनिक मंगलवार को गाजा शहर के और अंदर पहुंच गए। गाजा में लगातार 18 दिनों तक सैन्य कार्रवाई चलाने के बावजूद इजरायल के एक शीर्ष सैन्य अधिकारी ने कहा कि अभी भी काफी कार्य बाकी है। इस बीच संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून गाजा में हिंसा रोकने के वास्ते मिस्र, इजरायल, जॉर्डन और सीरिया के नेताआें से बातचीत करने के लिए क्षेत्र की यात्रा पर जा रहे हैं। उन्होंने यात्रा पर रवाना होने से पहले संवाददाताआें से कहा कि मेरा संदेश स्पष्ट सीधा है कि क्षेत्र में संघर्ष रुकना चाहिए। मैं दोनों पक्षों से कहता हूं कि अब यह हिंसा बंद करें। क्षेत्र में राहत सामग्री की आपूर्ति करने वाले संयुक्त राष्ट्र के राहत समूहों ने गाजा पट्टी में पानी सहित आवश्यक साम्रगी की कमी होने की जानकारी दी है। ईंधन की कमी के कारण क्षेत्र में बिजली की आपूर्ति बाधित हो रही है। इजरायली लड़ाकू विमानों ने मिस्र से हमास के लिए हथियारों की आपूर्ति के लिए इस्तेमाल किए जाने वाली सुरंगों सहित करीब 60 ठिकानों पर बमबारी की। दक्षिण इजरायल के बीरशेबा में में दो राकेट गिरे लेकिन इससे कोई हताह नहीं हुआ। इजरायल के सेनाध्यक्ष लेफ्टिनेंट जनरल गाबी अश्केनाजी ने कहा कि हमने सैन्य कार्रवाई के दौरान हमास को काफी नुकसान पहुंचाया है लेकिन अभी भी काफी कार्य बाकी है। उन्होंने बताया कि हमास के खिलाफ गत 27 दिसम्बर को सैन्य अभियान शुरू होने के बाद से इजरायली लड़ाकू विमानों ने 2300 से अधिक हमले किए हैं। गाजा में हमास के स्वास्थ्य जारी सैन्य कार्रवाई में मरने वाले फिलिस्तीनी नागरिकों की संख्या तक पहुंच गई है। मारे गए लोगों में 400 महिलाएं और बच्चे शामिल हैं। वहीं इजरायल का कहना है कि हमास के रॉकेट हमलों में उसके 10 सैनिक मारे गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: गाजा में कोई स्थान सुरक्षित नहीं : यूएन