अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मंदी के बावजूद जन्मदिन पर दोगुनी राशि : मायावती

यूपी की मुख्यमंत्री ने कहा कि कार्यकर्ताआें के सहयोग से मिली पिछले साल की अपेक्षा इस साल की दोगुनी राशि से वह खुश है और इसका इस्तेमाल लोकसभा के आगामी चुनाव में किया जाएगा। जबरन वसूली के विपक्ष के दावे को खोखला बताते हुए उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती ने गुरुवार को अपने 53वें जन्मदिन पर कहा कि कार्यकर्ताआें ने इस साल सहयोग के रूप में पिछले साल की अपेक्षा दुगुनी राशि जमा की है। पूरे विपक्ष खासकर समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री ने अपने सरकारी आवास पर संवाददाताआें के साथ बातचीत में कहा कि उनके जन्मदिन पर जबरन वसूली का विपक्ष के आरोप में कोई दम नहीं है। उनका जन्मदिन हर साल वित्तीय सहयोग के रूप में मनाया जाता है और यह साल भी कोई अपवाद नहीं है। उन्होंनें कहा कि कार्यकर्ताआें के सहयोग से मिली पिछले साल की अपेक्षा इस साल की दुगुनी राशि से वह खुश है और इसका इस्तेमाल लोकसभा के आगामी चुनाव में किया जाएगा। उनके जन्मदिन पर यहां बड़ी संख्या में सरकारी अधिकारी, बसपा के मंत्री और विधायक तथा पार्टी कार्यकर्ता मौजूद थे। मायावती के जन्मदिन का विरोध कर रहे लोगों पर लाठी चली:- उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती के 53 वें जन्मदिन के विरोध में पूरे राय में हो रहे प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने कई जगहों पर लाठी बरसाई और आंसू गैस के गोले दागे। पूरे राय में मुख्य विपक्षी समाजवादी पार्टी (सपा) के कई सांसदों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस लाठीचार्ज के विरोध में इलाहाबाद, देवरिया, प्रतापगढ़ और इटावा समेत कई स्थानों पर हिंसा की घटनाएं हुईं। राजधानी लखनऊ में विधानसभा के सामने प्रदर्शन कर रहे सपा कार्यकर्ताआें पर पुलिस ने लाठियां बरसाई। लाठीचार्ज से तितर बितर हुई भीड़ कैसरबाग में जमा हो गई जहां आंसू गैस के गोले छोड़े गए तथा भीड़ को भगाने के लिए हवा में गोलियां भी चलाईं गई। भीड़ ने पुलिस बल पर पथराव भी किया। कैसरबाग से पुलिस ने सपा सांसद भगवती सिंह को गिरफ्तार कर लिया। राजधानी में विरोध प्रदर्शन करने जा रहे कांग्रेस कार्यकर्ताआें पर पुलिस ने पानी की बौछार की। विरोध प्रदर्शन का नेतृत्च कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह, प्रदेश अध्यक्ष रीता बहुगुणा जोशी और विधानमंडल दल के नेता प्रमोद तिवारी कर रहे थे। पुलिस ने कांग्रेस के जुलूस को नूर मंजिल के पास रोक लिया। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने विधानसभा भवन के पास जन्मदिन के विरोध में नारेबाजी की और जब वह राजभवन जा रहे थे तब पुलिस ने उन्हें भगाने के लिए हलका बल प्रयोग किया। गोरखपुर से मिली रिपोर्ट के अनुसार सपा महासचिव अमर सिंह, पार्टी सांसद जया बच्चन और गोरखपुर से सपा के घोषित प्रत्याशी तथा भोजपुरी फिल्मों के अभिनेता और गायक मनोज तिवारी को हवाई अड्डे पर रोक लिया गया। सपा कार्यकर्ताआें ने जब हवाई अड्डे में घुसने की कोशिश की तो उन पर लाठियां चलाई गईं, जिसमें बीस लोग घायल हो गए। सपा नेता राजेश सिंह के नेतृत्व में हवाई अड्डा परिसर में जबरन प्रवेश करने वाले लगभग तीन सौ कार्यकर्ताआें को गिरफ्तार किया गया। सपा महासचिव अमर सिंह ने कहा कि पुलिस उनके साथ असामाजिक तत्वों जैसा व्यवहार कर रही है। उन्होंनें कहा कि पुलिस उपमहानिरीक्षक केके तिवारी का कहना है कि यदि वह हवाई अड्डे से बाहर गए तो कानून व्यवस्था की समस्या खड़ी हो जाएगी। तिवारी ने भी सपा नेताआें को हवाई अड्डे पर ही रोक लिए जाने की पुष्टि की। सपा सांसद अक्षय प्रताप सिंह को प्रतापगढ़ में तथा चायल से सांसद शैलेन्द्र सिंह को इलाहाबाद से हिरासत में लिया गया है। गौरतलब है कि सपा पिछले 24 दिसम्बर को औरेया में लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता एमके गुप्ता के जन्मदिन को लेकर कथित जबरन वसूली में हुई हत्या के विरोध में आज पूरे राय में थू थू दिवस मना रही है। जन्मदिन को लेकर जबरन वसूली के विरोध में अन्य राजनीतिक दल भी सड़कों पर हैं। इस बीच सपा के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने कहा कि पूरे राय में अराजकता का माहौल है और खासकर उनकी पार्टी के कार्यकर्ताआें को सरकार के इशारे पर निशाना बनाया जा रहा है। उन्होंनें कहा कि राय सरकार सपा कार्यकर्ताआें के साथ आतंकवादियों जैसा व्यवहार कर रही है। यादव ने कहा कि लोकसभा के आगामी चुनाव में जनता बसपा को सबक सिखाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मंदी के बावजूद जन्मदिन पर दोगुनी राशि : माया