DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सत्यम को पैकेज पर विचार नहीं : केंद्र

ेन्द्र सरकार घोटाले में फंसी सत्यम कम्प्यूटर सर्विसेस लिमिटेड को किसी भी तरह की वित्तीय सहायता देने पर विचार नहीं कर रही है।ड्ढr केन्द्रीय वाणिय एवं उद्योग रायमंत्री अश्विनी कुमार ने संवाददाताओं को बताया कि सरकार सत्यम के कामकाज में कोई हस्तक्षेप नहीं करेगी। सत्यम को वित्तीय मदद देने की योजना से संबद्ध एक सवाल पर कुमार ने कहा कि हम कंपनी में कोई दखल नहीं देंगे। नया बोर्ड भविष्य की योजनाआें के संबंध में निर्णय लेगा। उन्होंने साफ कहा कि सत्यम में हुई धांधली और गलतियों की भरपाई सरकार किसी भी तरह से नहीं करेगी। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि हम सत्यम के घोटाले या गलतियों के लिए उसे सब्सिडी देने नहीं जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार कर्मचारियों को नौकरी बचाने और दुनियाभर में भारतीय आईटी कंपनियों की साख बचाने की हर संभव कोशिश करेगी। उन्होंने कहा कि सत्यम में हुए घोटाले से भारतीय आईटी साख प्रभावित नहीं होगी। उन्होंने कहा कि सरकार सत्यम कंप्यूटर सर्विसिज लिमिटेड के कामकाज में कोई हस्तक्षेप नहीं करेगी। संकटग्रस्त सत्यम के संस्थापक अध्यक्ष बी रामालिंगा राजू पिछले हफ्ते कंपनी में 70 अरब रुपये की वित्तीय अनियमितता की बात स्वीकार करने के बाद जेल में हैं। कुमार ने अंतर्राष्ट्रीय तेल एवं गैस सम्मेलन पेट्रोटेक के अवसर पर संवाददाताओं से कहा कि हम कंपनी में हस्तक्षेप नहीं करेंगे। नया बोर्ड निर्णय लेगा। सत्यम के लिए सरकार द्वारा गठित नए तीन सदस्यीय बोर्ड की पहली बैठक सोमवार को हैदराबाद में हुई थी। नए बोर्ड में नेशनल एसोसिएशन ऑफ सॉफ्टवेयर एंड सर्विस कंपनीज (नैस्कॉम) के पूर्व प्रमुख किरण कार्णिक, हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कारपोरेशन (एचडीएफसी) के अध्यक्ष दीपक पारीख और शेयर बाजारों की नियामक संस्था भारतीय प्रतिभूति व विनिमय बोर्ड (सेबी) के पूर्व सदस्य सी अच्युतन शामिल हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सत्यम को पैकेज पर विचार नहीं : केंद्र