अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बर्थडे पर नौ अरब के रिटर्न गिफ्ट

मायावती ने कई योजनाएँ शुरू कीं मुख्यमंत्री मायावती ने अपने 53वेंोन्मदिन पर गुरुवार को जनता को ‘रिटर्न गिफ्ट’ में तमाम योजनाओं की सौगात दी। उन्होंने इस मौके पर बालिकाओं के लिए दो नई महत्वाकांक्षी योजनाओं ‘महामाया गरीब बालिका आशीर्वाद योजना’ और ‘सावित्री बाई फुले बालिका शिक्षा मदद योजना’ का शुभारम्भ किया। शहरी गरीब बस्तियों में रहने वालों को ‘सर्वजन हिताय शहरी गरीब आवास (स्लम एरिया) मालिकाना हक योजना’ का तोहफा दिया। मुख्यमंत्री ने 00 करोड़ की विभिन्न परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया। इसके अलावा करीब 13 हजार विचाराधीन एवं गरीब बन्दियों की रिहाई की गई।ड्ढr मुख्यमंत्री ने अपने सरकारी आवास पर महामाया गरीब बालिका आशीर्वाद योजना का शुभारम्भ करते हुए बताया कि इस योजना से 15 जनवरी, 200और इसके उपरान्त बीपीएल परिवारों में जन्मी बालिकाएँ लाभान्वित होंगी। इस योजना से प्रदेश की लगभग 4़5 लाख बालिकाएँ लाभान्वित होंगी और योजना पर प्रतिवर्ष लगभग 00 करोड़ रुपए खर्च होंगे। इस योजना के तहत 18 वर्ष उम्र पूरी होने के बाद बालिका को एक लाख रुपए मिलेगा। लेकिन शर्त यह होगी कि तब तक उसका विवाह न हुआ हो। उन्होंने कहा कि इस योजना का एक लाभ यह भी होगा कि अब लोग बालिका के जन्म को बोझ समझने की जगह उसका स्वागत करंगे और इससे प्रदेश में घटते लिंग अनुपात को दुरुस्त करने में मदद मिलेगी। (विसं)ड्ढr लड़कियों को दसवीं बाद पढ़ाई में मिलेगी मदद : पेा 11 इस बार तो दोगुना चंदा मिला लखनऊ। मुख्यमंत्री मायावती ने अपने 53वें जन्मदिवस पर विरोधी दलों पर पलटवार करते हुए कहा कि पूँजीपतियों के धन के बल पर संगठन चलाने वाले विरोधी दल उनके जन्मदिन को चंदे से जोड़कर घिनौनी राजनीति कर रहे हैं, बसपा उन्हें उन्हीं की भाषा में जवाब देना जानती है। उन्होंने कहा कि बसपा भी दलाली के चंदे पर चल रही सपा के प्रमुख का जन्मदिन ‘दलाल दिवस’, कांग्रस अध्यक्ष सोनिया गांधी का जन्मदिन ‘गुलामी दिवस’ और भाजपा नेता का जन्मदिन ‘धोखाधड़ी दिवस’ के रूप में मना कर उनके गिर हुए तुच्छ हथकण्डों का जवाब दे सकती है। लेकिन वह अपनी पार्टी के लोगों को इस तरह की गिरी हुई राजनीति करने की इजाजत नहीं देती हैं। जबरन चंदा वसूली की खबरों को बेबुनियाद बताते हुए उन्होंने विरोधी दलों का इस बात के लिए शुक्रिया भी अदा किया कि उनके विरोध के चलते ही बसपाइयों ने इस बार उन्हें पूर देश से पिछले साल की तुलना में दोगुना चंदा इकट्ठा करके दिया है जिसका इस्तेमाल वह आने वाले लोकसभा चुनाव में करंगी। बसपा अध्यक्ष ने गुरुवार को आयोजित एक सादे समारोह में कहा कि उनका जन्मदिन पार्टी संस्थापक स्व. कांशीराम जी के समय से ही आर्थिक सहयोग दिवस के रूप में मनता आया है और इस साल भी मनाया गया। उन्होंने कहा कि विरोधी दल बिना तथ्य के औरैया की घटना को उनके जन्मदिन के चंदे से जोड़ कर बसपा व सरकार को बदनाम करने में लगे हैं। (विसं)ड्ढr विपक्षी दलों को सद्बुद्धि आए:पेा 11

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बर्थडे पर नौ अरब के रिटर्न गिफ्ट