DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शेरो-शायरी कर विरोधी दलों को धिक्कारा

बसपा नेताओं ने गुरुवार को लखनऊ में कलेक्ट्रेट परिसर में आयोित ‘विरोधी पार्टी धिक्कार दिवस’ के सपा, कांग्रेस और भाापा पर निशाना साधा। इन दलों की सरकारों के दौरान के घोटालों और नीतियों को शेर - शायरी केोरिए उाागर किया। मुख्य वक्ता और प्रदेश सरकार के वरिष्ठ मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने भाापा पर निशाना साधने के लिए शेर पढ़ा-‘ सच का मÊामून तोड़ डाला है, रिश्ता-ए-खून तोड़ डाला है। आा वह देशभक्त बनता है,ोिसने कानून तोड़ डाला है!’ फिर सपा के लिए बोले-‘सच्चाई के दुश्मनोो थे, उनको विधानसभा चुनाव में हार मिल गई, पड़ने लगे नोाने कैसे दौरोब इनको सरकार न मिली!’ लम्बे भाषण के दौरान बसपा ने सवाल किया कि मुलायम सिंह यादवोब पहली बार एमएलए बने, तब उनकी संपत्ति कितनी थी और कब कितनी है? यह सब सुप्रीमकोर्ट में चल रहे मामले के हलफनामे से ही साफ होोाता है। उन्होंने बसपा सरकार की उपलब्धियाँ गिनाई और आह्वान किया कि बहन मायावती को प्रधानमंत्री बनाने के लिए कार्यकर्ताोुटोाएँ। लखनऊ से अभिनेता सांय दत्त या उनकी पत्नी मान्यता को चुनाव लड़ाने के सपा के एलान पर उन्होंने सवाल उठाया कि मान्यता मुस्लिम हैं, पहले पति से विधिवत तलाक के बगैर उन्हें सांय दत्त की पत्नी का दरा कैसे मिल गया?ड्ढr मुख्यमंत्री मायावती के 53वीं सालगिरह पर आयोित ‘विरोधी पार्टी धिक्कार दिवस’ में हिस्सा लेने के लिए गुरुवार की सुबह से कार्यकर्ता जमा होने लगे थे। राष्ट्रीय महासचिव अखिलेश दास के समर्थकों की अगुवाई में भी कार्यकर्ताओं की टोलियाँ कलेक्ट्रेट परिसर पहुँची। दस बाते-बाते कलेक्ट्रेट परिसर ठसाठस भर गया। करीब 12 बो माल्यार्पण के बाद नेताओं के भाषण शुरू हुए। नगर विकास मंत्री नकुल दुबे ने कांग्रेस, भाापा और सपा के कार्यकाल के दौरान हुए घोटालों का उल्लेख कर कहा कि ये पार्टियाँ सिर्फ धिक्कारने के योग्य हैं। विशिष्ट अतिथि डॉ.अखिलेश दास गुप्ता ने समाावादी पार्टी को ‘दलालों और फिल्म स्टारों की पार्टी’ करार दिया।ड्ढr मुख्य वक्ता नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने मुलायम सिंह के शासन काल को ‘कंस राा’ का तमगा दिया। आरोप लगाया कि उनके कार्यकाल में अपराधों की बाढ़ आ गई थी। लेकिन बहनाी की सरकार में अपराधियों कीोगह ोल या तो यूपी की सीमा से बाहर है। उन्होंने शेर पढ़ा-‘तुमने गैरों के दामन में तो दाग लगा रखे हैं, पर अपने दामन के दाग छिपा रखे हैं।’ उन्होंने कहा कि वह वर्ष 1से पार्टी हैं, उस समय भी बहनोी काोन्मदिन आर्थिक सहयोग दिवस के रूप में मनायाोाता था, आा भी मनायाोाता है। इसमें कार्यकर्ता अपनी मेहनत की राशि देता है। क्योंकि हमारी सरकार पूँाीपतियों से नोट लेकरोनता पर कोई बोझ नहीं डालती। सभा में डॉ.नीरा बोरा, रामचन्द्र प्रधान, सुधीर हलवासिया, अचल मेहरोत्रा, गुड्डू त्रिपाठी, रामलखन चौरसिया, डॉ.विाय प्रताप गौतम, अशोक सिद्धार्थ, भाईचारा कमेटी केोमीरुद्दीन, बामसेफ के रामचन्द्र, प्रदीप सिंह, कमलेश भारती, हिरवानी समेत बड़ी संख्या नेता मंच पर मौाूद थे।ड्ढr ड्ढr पीड़ितोाँच से संतुष्ट फिर भी विरोधियों के पेट में मरोड़:नसीमुद्दीनड्ढr प्रमुख संवाददाता लखनऊड्ढr औरैया में इांीनियर हत्याकाण्ड पर सरकार की घेराबंदी कर रहे विपक्षी दलों कोोवाब देने के लिए नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने अभियंता मनो गुप्ता की पत्नी शशि गुप्ता और बेटे प्रतीक प्राांल की ओर से मुख्यमंत्री को लिखे गए पत्र को पढ़कर सुनाया। मुख्यमंत्री को संबोधित एक पेा के इस पत्र में कहा गया है कि वह पुलिस की तफ्तीश से संतुष्ट हैं। श्री सिद्दीकी ने कहा कि मनो गुप्ता उनके विभाग के मंत्री थे, पूरा विभाग और वह उनके परिवार के साथ खड़े हैं। सरकार उनके परिवार को हर संभव सहयोग देगी। फिर कटाक्ष किया किोिसके परिवार के साथ हादसा हुआ, उसकी भावना आप सबके सामने है। बावाूद इसके कुछ दल सीबीआईोाँच की माँग कर राानीतिक रोटियाँ सेकने का प्रयास कर रहे हैं। कोई मुद्दा नार नहीं आ रहा है तो इसी को लेकर उनके पेट में मरोड़ उठ रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शेरो-शायरी कर विरोधी दलों को धिक्कारा