DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आतंकियों को सौंपना ही होगा

विदेश मंत्री प्रणव मुखर्जी ने कहा है कि पाकिस्तान को मुंबई हमले के अपराधियों पर भारतीय कानून के मुताबिक मुकदमा चलाने के लिए उन्हें भारत को सौंपना जरूरी है। हमने इस मामले में अपने रुख को नरम नहीं किया है। हालांकि मुखर्जी ने इससे पहले इसी हफ्ते एक टीवी साक्षात्कार में कहा था कि अपराधियों पर मुकदमा पाकिस्तान में चलाए जाने पर भारत को आपत्ति नहीं होगी। इसकी राजनयिक हलकों में तीखी आलोचना हुई थी।ड्ढr ड्ढr शुक्रवार को प्रणव ने स्पष्ट किया कि यह कहने का कोई अर्थ नहीं कि भारत-पाकिस्तान के बीच प्रत्यर्पण संधि नहीं है। उन्होंने याद दिलाया कि पाकिस्तान में 1में निर्मित प्रत्यर्पण कानून के प्रावधान के अनुसार किसी देश के साथ प्रत्यर्पण संधि नहीं होने के बावजूद अन्य देश में अपराध करने वाले पाकिस्तानी नागरिकों को दूसर देश को सौंपा जा सकता है। भारत की यात्रा पर आए ब्रिटिश विदेश मंत्री डेविड मिलिबैंड ने भी आतंकियों पर पाकिस्तान में ही मुकदमे की वकालत की थी। उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान में न्यायपालिका मजबूत है। पाक में उच्चायुक्त रहे जी. पार्थसारथी ने कहा ब्रिटेन अमेरिका की कठपुतली है और भारत ब्रिटेन की कठपुतली बन रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आतंकियों को सौंपना ही होगा