DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नियुक्ित पत्र मिलते ही चमके 400 चेहरे

जहानाबाद की संगीता सिन्हा के लिए दोहरी खुशी का मौका! वह खुश है कि जूनियर इंजीनियर की नौकरी दोबारा मिल गयी लेकिन उससे अधिक खुशी इस बात की है कि नियुक्ित पत्र मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के हाथों से मिला। संगीता पहले सिंचाई विभाग में तैनात थी लेकिन वहां कॉन्ट्रैक्ट खत्म हो गया। इसलिए जब वह नियुक्ित पत्र लेकर मुख्यमंत्री आवास से बाहर आयी तो रल मंत्री लालू प्रसाद के घर के सामने खड़े अपने अभिभावकों को यह बताते नहीं थकी कि सबसे पहले उसी का नाम पुकारा गया।ड्ढr ड्ढr शुक्रवार को न सिर्फ संगीता बल्कि सरिता कुमारी, निलेश कुमार, संजीव कुमार और प्रमोद कुमार सिन्हा जैसे चार सौ से अधिक चेहरे भी खुशी से चमक उठे। उन्हें राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (नरगा) के तहत जूनियर इंजीनियर या पंचायत तकनीकी सहायक की नौकरी मिली है। वैसे कुछ लोगों को कम पैसे मिलने को लेकर निराशा भी थी। हालांकि नियुक्ित पत्र बांटते समय मुख्यमंत्री ने यह नसीहत दी कि आपको सौंपी गयी जिम्मेदारी रुपयों के लिए की जाने वाली नौकरी नहीं बल्कि समाज सेवा है। मुख्यमंत्री के हाथों 312 जूनियर इंजीनियर और 211 पंचायत तकनीकी सहायकों को नियुक्ित पत्र दिया जाना था। हालांकि सौ से ज्यादा उम्मीदवार लेट हो गये।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नियुक्ित पत्र मिलते ही चमके 400 चेहरे