अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘अमेरिकी हितों के लिहाज से महत्वपूर्ण है भारत’

मुंबई में हुए आतंकवादी हमलों का हवाला देते हुए एक एशियाई संस्था ने अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति बराक ओबामा से आतंकवाद और वित्तीय संकट से निपटने के लिए भारत के साथ सशक्त भागीदारी करने का अनुरोध किया है। न्यूयार्क स्थित इस संस्था के कार्यबल ने अपने एक अध्ययन के आधार पर शुक्रवार को कहा को आने वाले वर्षो में अमेरिका के समक्ष आने वाले विदेश नीति संबंधी हरेक प्रमुख मसले के संबंध में भारत महत्वपूर्ण रहेगा। संस्था ने कहा है कि दक्षिण एशिया क्षेत्र में सुरक्षा बहाली, विश्व अर्थव्यवस्था में स्थिरता और इस्लामी कट्टरवाद से निपटने जसी जटिल अंतर्राष्ट्रीय चुनौतियों से निपटने के लिए भारत के साथ व्यापक और करीबी रिश्ते बनाना जरूरी है। संस्था के इस अध्ययन में कहा गया है कि हाल के मुंबई हमलों ने विश्व के दो बड़े लोकतंत्रों के बीच भागीदारी की तत्काल जरूरत को उजागर कर दी है। संस्था के अनुसार भारत से अमेरिका के रिश्ते भविष्य में बेहद जरूरी और दीर्घकालिक होंगे। संस्था के अनुसार मुंबई के हमलों ने अंतर्राष्ट्रीय आतंकवाद के समक्ष भारत की बेबसी, हिंसक इस्लामी कट्टरवाद के खिलाफ दोनों देशों के संघर्ष तथा इस संकट के क्षेत्र में तेजी से फैलने के खतरे को उजागर कर दिया है। संस्था का कहना है कि वित्तीय क्षेत्र में भी भारत ने साबित कर दिया है कि वह जी-20 जसे संगठनों का अहम भागीदार हो सकता है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘अमेरिकी हितों के लिहाज से महत्वपूर्ण है भारत’