DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दृढ़ हो इच्छाशक्ित, तो छोड़ सकते हैं तंबाकू

नये साल की शुरुआत के साथ अनेक लोग अपने जीवन को बेहतर बनाने का संकल्प लेते हैं। सिगरट छोड़ने का फैसला वर्ष 200े लिए एक अच्छा संकल्प साबित हो सकता है।तंबाकू की लत के दो पहलू हैं- शारीरिक एवं मनोवैज्ञानिक। अत: इससे निजात पाने के लिए किसी चमत्कारिक नुस्खे की उम्मीद नहीं करनी चाहिए। सिगरट छोड़ने की चुनौती से निपटने के लिए महत्वपूर्ण है- दृढ़ संकल्प एवं सही योजना।ड्ढr सिगरट से सफलतापूर्वक निजात पाने के लिए आप इस तरह प्रयास करं:ड्ढr सिगरट छोड़ने का निर्णय लें : सिगरट छोड़ने का निर्णय आप और केवल आप ही ले सकते हैं। आपके शुभचिंतक केवल आपके लिए कामना कर सकते हैं, परंतु पहल आप ही को करनी होगी।ड्ढr सिगरट छोड़ने की तिथि का निर्धारण : सिगरट छोड़ने का निर्णय लेने के बाद अगला महत्वपूर्ण कदम है, उपयुक्त तिथि का निर्धारण। इसके लिए कोई विशेष दिन तय करं और उसे कैलेंडर पर मार्क कर दें। इस तिथि के प्रति व्यक्ितगत रूप से वचनबद्ध रहें और दृढ़तापूर्वक इसे छोड़ दें।ड्ढr शारीरिक लक्षणों से निपटना : सिगरट छोड़ने के बाद शुरू के दो-तीन दिन तक कुछ तकलीफ देह शारीरिक लक्षणों का सामना करना पड़ता है। तनाव, सिरदर्द, चिड़चिड़ापन, थकावट एवं नींद न आना इसके मुख्य लक्षण हैं। लेकिन यह लक्षण समय के साथ अपने-आप गायब हो जाते हैं।ड्ढr तंबाकूमुक्ित की स्थिति को बरकरार रखना : सिगरट छोड़ने की प्रक्रिया में यह सबसे गंभीर चुनौती है। एक बार छोड़ने के बाद आप दोबारा इसमें न फंसें- इसके लिए आपको इक्का-दुक्का कभी-कभार अचानक पैदा होनेवाली सिगरट की तलब से निपटना होगा। इच्छा चाहे कितनी ही प्रबल क्यों न हो- भूलकर भी एक कश लेने की गलती न करं। ऐसी स्थिति आने पर अपनी सेहत, अपने पैसे और अपने परिवार की भलाई के बार में सोचें या फिर एक ग्लास पानी पीकर तलब को दूर भगाने की कोशिश करं।इन सबके बावजूद भी यदि भूलवश या परिस्थितिवश धूम्रपान कर लेते हैं, तो हतोत्साहित न हों। अधिकांश लोग चंद कोशिशों में असफल रहने के बाद ही तंबाकू से निजात पाने में पूरी तरह से सफल हो पाते हैं। अपनी भूल को लर्निग एक्सपीरियंस के रूप में लें और इससे सीख लेकर फिर से एक बेहतर प्रयास करं।ड्ढr (लेखक तंबाकू विमुक्ित विशेषज्ञ हैं।) ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दृढ़ हो इच्छाशक्ित, तो छोड़ सकते हैं तंबाकू