अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजधानी में डेरा डालेंगे राज्य भर के कर्मचारी

अराजपत्रित कर्मचारियों की हड़ताल शनिवार को भी जारी रही। स्थानीय सव्रे मैदान में हड़ताली कर्मचारियों की सभा हुई। इसमें निर्णय लिया गया कि जबतक राज्य में सरकार का गठन या राष्ट्रपति शासन में से एक नहीं हो जाता, वे लोग शांतिपूर्ण आंदोलन करंगे। सरकार गठन के बाद वे लोग राज्य भर के कर्मचारियों को राजधानी में बुलायेंगे और यहां डेरा डालो-घेला डालो, कार्यक्रम चलेगा। इधर, कर्मचारियों की हड़ताल से सरकारी कार्यालयों में कामकाज प्रभावित रहा। कार्यालयों में दैनिक कार्यो के निपटार में दिक्कत आ रही है। महासंघों की संघर्ष समिति के अशोक कुमार सिंह ने कहा कि जब तक उनलोगों की मांगें नहीं मानी जातीं, आंदोलन जारी रहेगा। सरकार को उनलोगों की मांगों पर शीघ्र कार्रवाई करनी चाहिए। सव्रे मैदान में आयोजित सभा में कर्मचारी नेताओं ने हड़ताल को सफल बताया। सभा को अजब लाल सिंह, रामचरित्र शर्मा, कामेश्वर प्रसाद, हरिहर यादव, सुनील कुमार साह, उमेश पांडेय, स्वपन कुमार सिंह ने संबोधित किया। इस मौके पर कौशल सिन्हा, देवगीत सिंह, ब्रजेश कुमार सिंह, सुशीला तिग्गा, सोम प्रकाश उपस्थित थे।ड्ढr हड़ताली अनुसचिवीय कर्मचारी संघ की रांची समाहरणालय में सभा हुई। सभा को इजहारूक हक, भरत सिंह, गिरवर महतो, अशोक कुमार सिंह, सुशीला कुाूर ने संबोधित किया। पंचायत सेवक संघ के महामंत्री सदानंद प्रसाद ने कहा कि अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के आह्वान पर राज्य भर के पंचायत सेवक हड़ताल पर हैं। अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ की अनगड़ा शाखा की बैठक हुई। इसमें हड़ताल को लेकर एकजुटता प्रदर्शित की गयी। बैठक में हसीबुल अंसारी, संतोष बेदिया, काजल विश्वकर्मा, मधुमिता कुमारी, विनोद कुमार, सनातन, महादेव लकड़ा आदि उपस्थित थे।ड्ढr समाहरणालय में दिखने लगा हड़ताल का असरड्ढr रांची। झारखंड राज्य कर्मचारी संघ की हड़ताल का असर समाहरणालय के कार्यो पर भी दिखने लगा है। शुक्रवार की देर शाम महासंघ के कुछ सदस्य समाहरणालय आये और लोगों से हड़ताल की अवधि में काम नहीं करने को कहा। इसके बाद से ही समाहरणालय में पदस्थापित कर्मचारियों ने काम करना बंद कर दिया। इधर आपूर्ति सेवा संघ ने हड़ताल को नैतिक समर्थन देने की घोषणा की है। संघ के अजीत कुाूर ने बताया कि महासंघ के आग्रह पर आपूर्ति सेवा संघ ने हड़ताल को नैतिक समर्थन देने का निर्णय लिया है। शनिवार को समाहरणालय परिसर में सन्नाटा पसरा रहा। अधिकांश कर्मचारी काम पर नहीं आये। कुछ आये भी तो बगैर काम किये ही समय बिताते दिखे। इधर भूमि सुधार एवं राजस्व कर्मचारी संघ ने हड़ताल को शत प्रतिशत सफल बताया है। संघ के महामंत्री भरत सिन्हा ने कहा कि महांसघ अपनी मांगों पर अडिग है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राजधानी में डेरा डालेंगे राज्य भर के कर्मचारी