DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नदाल या फेडरर, कौन बनेगा चैंपियन?

नंबर एक की कुर्सी गंवाने के बावजूद रोजर फेडरर ही सोमवार से शुरू हो रहे साल के पहले ग्रैंड स्लैम आस्ट्रेलियन ओपन में खिताब के स्वाभाविक दावेदार के रूप में उतरेंगे जबकि महिला वर्ग में एक बार फिर विलियम्स बहनों से सबसे अधिक उम्मीदें होंगी। स्विट्जरलैंड के फेडरर सर्वाधिक 14 ग्रैंड स्लैम जीतने के पीट सम्प्रास के रिकार्ड की बराबरी करने के इरादे से उतरेंगे। वह कई बार अमरीका के महान खिलाड़ी सम्प्रास के इस रिकार्ड की बराबरी करने की मंशा जता चुके हैं और उनकी पूरी कोशिश होगी कि मेलबर्न पार्क में दो सप्ताह बाद विजेता ट्रॉफी उठाकर वह इस सपने का पूरा कर लें। अब तक 13 ग्रैंड स्लैम जीत चुके फेडरर के लिए पिछला साल किसी दु:स्वप्न से कम नहीं रहा था। उन्हें साढ़े चार वर्षों से मिली नंबर एक की गद्दी छोड़नी पडी़ और तीन ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंटों के फाइनल तक का सफर तय करने के बावजूद वह केवल बार ही विजेता बन सके थे। लेकिन अब वक्त बदल चुका है और फेडरर ने ‘हार के डर’ से मुक्ित पा ली है। फेडरर ने ऑस्ट्रेलियन ओपन की पूर्व संध्या पर संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘साल के पहले ग्रैंड स्लैम की शुरुआत के पहले मैं खुद को फिट और तरोताजा महसूस कर रहा हूं और यहां पर खेलने के लिए उत्साहित हूं। मैंने कुछ टूर्नामेंट खेलकर अपनी तैयारी का जायजा ले लिया है और उसी हिसाब से मैं यहां पर अपने खेल की योजना बनाऊंगा।’ गत वर्ष यहां सेमीफाइनल में शिकस्त खाने वाले फेडरर इटली के आंद्रियास सेप्पी के खिलाफ पहले दौर का मैच खेलकर अपने अभियान की शुरुआत करेंगे। लेकिन उनका रास्ता रोकने के लिए विश्व नंबर एक राफेल नडाल, नंबर तीन नोवाक जोकोविच और नई सनसनी के रूप में उभरे एंडी मरे भी मौजूद होंगे। क्ले कोर्ट के मास्टर कहे जाने वाले नडाल धीरे-धीरे हार्ड कोर्ट पर भी रमते जा रहे हैं और वह यहां पर खिताबी जीत दर्ज करके इसे साबित करना चाहेंगे। हालांकि पिछले कुछ समय में उन्होंने अधिक मैच नहीं खेले हैं लेकिन पर्याप्त अभ्यास से वह इसकी कमी पूरी कर सकते हैं। नदाल ने कहा, ‘मैंने इसके लिए अच्छी तैयारी की है लेकिन अधिक मैच नहीं खेलने के कारण मुझे सही स्थिति का अंदाजा नहीं है। मेरी कोशिश होगी कि हरेक मैच में अपना सब कुछ झोंक दूं ताकि मैं पूरी लय में लौट सकूं।’ गत चैंपियन जोकोविच भी अपना पिछला प्रदर्शन दोहराने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हालांकि वह इन दिनों अपना रैकेट बदलने के कारण थोड़ी समस्या से जूझ रहे हैं। उन्होंने कहा कि नए रैकेट के साथ तारतम्य बनाने में थोड़ी दिक्कत हो रही है लेकिन मुझे लोगों की उम्मीदों का अहसास है। लेकिन टेनिस विशेषज्ञों की नजरें तो हालिया समय में एक सनसनी के तौर पर उभरे मरे पर ही टिकी रहेंगी। नए साल की शुरूआत हुए अभी कुछ ही दिन हुए हैं लेकिन वह अब तक नडाल, फेडरर और पूर्व नंबर एक एंडी रोडिक को धूल चटा चुके हैं। इन बड़े नामों के अलावा एंडी रोडिक, डेविड नलबैंडियन, मरात साफिन और लेटन ह्यू्इट जैसे खिलाड़ी भी खिताबी दौड़ से पूरी तरह बाहर नहीं हैं। ये सभी खिलाड़ी कभी भी अपने खेल का स्तर उठाने की काबिलियत रखते हैं और अगर कोई बड़ा उलटफेर हो जाए तो आश्चर्य नहीं होना चाहिए। अगर महिला वर्ग की बात की जाए तो विश्व नंबर एक एलेना यानकोविच को अपना पहला ग्रैंड स्लैम जीतने का सपना पूरा करने के लिए अमरीका की विलियम्स बहनों के साथ ही रूसी सुंदरियों की चुनौती से भी पार पाना होगा। शीर्ष वरीयता प्राप्त यानकोविच को हालिया प्रदर्शन के आधार पर खिताब का प्रबल दावेदार माना जा रहा है। लेकिन उनका खिताबी सपना मजबूत विपक्षियों से टकराकर मंजिल तक पहुंचने से पहले ही दम तोड़ सकता है। यहां अपने चौथे खिताब की तलाश में पहुंची सेरेना और बड़े मौके पर अपना बेहतरीन प्रदर्शन करने के लिए मशहूर उनकी बड़ी बहन वीनस विलियम्स के अलावा रूस की दिनारा सफीना, एलेना देमेंतिएवा और नादिया पेत्रोवा से उन्हें कड़ी चुनौती मिलने की पूरी संभावना है। गत चैंपियन मारिया शारापोवा के चोट की वजह से नहीं खेल पाने के कारण इस टूर्नामेंट का आकर्षण थोड़ा कम जरूर हो गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नदाल या फेडरर, कौन बनेगा चैंपियन?