DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक के मिजाज में दिखी कुछ और नरमी

मुंबई हमलों के तमाम गुनाहगारों की गिरफ्तारी को निहायत जरूरी बताते हुए पाकिस्तान ने कहा है कि यदि भारत तफ्तीश में सहयोग देने के इरादे से अपनी जांच टीम भेजता है तो इसका दिल खोलकर खर-मकदम किया जाएगा। साथ ही उसने आग्रह किया है कि पाक जांच दल को भी भारत आने का मौका दिया जाए। लेकिन उसने आगाह भी किया है कि भारत गुनाहगारों को सौंपने पर जोर न दे, वरना हम भी समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट के संदिग्ध आरोपी ले.जनरल श्रीकांत पुरोहित समेत अन्य के प्रत्यर्पण की मांग कर बैठेंगे। इस बीच, नई दिल्ली से मिली खबरों के मुताबिक भारत जल्द ही पाकिस्तान को कुछ और सबूत देने की तैयारी कर रहा है। इस बार जो सबूत सौंपे जाएंगे, उनसे साफ हो जाएगा कि लश्कर नेता जकीउर्र रहमान लखवी और जरार शाह ही हमले के मुख्य षडय़ंत्रकारी थे और उन्होंने ही हमलावरों को प्रषिक्षण वगैरह दी। पाकिस्तानी गृह मंत्रालय के प्रमुख रहमान मलिक ने रविवार को लाहौर में संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि मुंबई के बर्बर हमले में जिस किसी के भी हाथ रंगे हों, उस पर मुल्क के आतंकवाद रोधी कानून के तहत ही मुकदमा किया जाएगा। मलिक का यह बयान उनके उस वक्तव्य के एक दिन बाद आया है जिसमें उन्होंन मुम्बई हमलों के सिलसिल में पाकिस्तान का सौंपी गई सूचनाओं को सबूतों के नजरिए से पुख्ता और अहम बताया था। हालांकि उन्होंने साफ किया था कि जो भी जांच होगी, वह पाकिस्तान के अपने कानून के ही तहत होगी और इस मामले में किसी भी विदेशी दबाव को स्वीकार नहीं किया जाएगा। इससे पहले ‘जियो टीवी’ पर मलिक ने कहा कि यदि भारत गुनाहगारों के प्रत्यर्पण की मांग पर अड़ा रहा तो हम भी फर. 2006 मं समझौता एक्स. ब्लास्ट क संदिग्ध ल. कर्नल श्रीकांत पुरोहित समेत अन्य आरोपियों को सौंपन की मांग कर सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पाक के मिजाज में दिखी कुछ और नरमी