अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गोपालगंज में जदयू भाजपा में घमासान

जिला राजग में मचा घमासान उस वक्त चरम पर पहुंच गया जब रविवार को कई जदयू नेता कल 1ानवरी को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के आगमन के लिए बने सभास्थल पर ही धरना पर बैठ गए। इनका आरोप है कि भाजपा के पयर्टन मंत्री के इशारे पर पुल निर्माण निगम द्वारा जदयू के कई मंत्रियों व बड़े नेताओं ने नाम शिलापट्ट व कई अखबारों में छपे विज्ञापन में नहीं छपवाए गए हैं।ड्ढr ड्ढr वहीं भाजपा के जिला महामंत्री सुभाष सिंह ने मंत्री पर लगाए गए आरोपों को निराधार बताते हुए कहा कि पुल निर्माण निगम के कार्यो में पयर्टन मंत्री की कोई साजिश भला कैसे हो सकती है। उधर जदयू नेता सूबे के खाद्य आपूर्ति मंत्री नरन्द्र सिंह, गन्ना मंत्री गौतम सिंह, सचेतक रामसेवक सिंह व एमएलसी शंभूशरण श्रीवास्तव के कार्यक्रम में शिरकत करने की जानकारी के बावजूद जान बूझकर इनके नाम शिलापट्ट व विज्ञापन में नहीं होने पर भड़क उठे तथा सभास्थल पर ही कार्यक्रम के करीब 24 घंटे पूर्व से धरना शुरू कर दिए। इससे पूरी राजनीति गरमा गई।ड्ढr ड्ढr धरना पर बैठनेवालों में जदयू जिला उपाध्यक्ष भृगु आश्रम सिंह कुशवाहा, अमरकांत पांडेय, मुकेश पांडेय, ऐनुल होदा, अरविंद पटेल, दिनेश पर्वत, एनामुल सिद्दिकी, राघव सिंह, मंजय तिवारी, आदित्यशंकर शाही, आदि शामिल हैं। इन्होंने कहा कि कल मुख्यमंत्री के सामने ही सामूहिक इस्तीफा दे देंगे यदि जदयू नेताओं का नाम नहीं जोड़ा गया तो। उधर जदयू जिलाध्यक्ष मंजीत कुमार सिंह, सचेतक रामसेवक सिंह धरनार्थियों को समझाने बुझाने में जुट गए हैं।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: गोपालगंज में जदयू भाजपा में घमासान