DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आज से कोल इंडिया में तीन दिनी हड़ताल

ोल इंडिया एवं इसकी सहायक कंपनियों में 1ानवरी से हड़ताल शुरू हो रही है। यह 21 जनवरी तक चलेगी। दी झारखंड कोलियरी मजदूर यूनियन एवं अन्य संगठनों ने इसका आह्वान किया है। झारखंड कोलियरी श्रमिक यूनियन ने इसे समर्थन दिया है। जेसीएमयू के महासचिव सतन मुखर्जी ने दावा किया है कि इस अवधि में कोल इंडिया ठप पड़ जायेगा। सीसीएल, बीसीसीएल, झारखंड में स्थित इसीएल की खदानों, एसइसीएल, डब्ल्यूसीएल सहित अन्य कंपनियों पर इसका व्यापक प्रभाव पड़ेगा। इस बार प्रबंधन और खुद को कामगारों का प्रतिनिधि कहने वाली यूनियनों को उनकी स्थिति का अंदाजा लग जायेगा। उन्होंने कहा कि महीनों पहले कोयला मंत्री, कोल इंडिया चेयरमैन को मांग पत्र सौंपा गया था। इसमें दस साल का वेतन समझौता करने, न्यूनतम बेसिक 27000 देने, अधिकारी की तरह सुविधा एवं भत्ता देने की मांग की गयी थी। वार्ता में चेयरमैन ने कार्रवाई का आश्वासन भी दिया था। बाद में उलट गये। कामगार हित एवं उनकी वादाखिलाफी के कारण यूनियन को यह रास्ता अख्तियार करना पड़ा। हड़ताल को सफल बनाने के लिए सदस्यों ने रविवार को भी कई जगह सभा एवं जनसंपर्क किया।ड्ढr वेज का हिस्सा, पर लाभ नहींड्ढr रांची। राष्ट्रीय कोयला मजदूर कांग्रेस के अपर महामंत्री केएन सिंह ने कहा कि अटेंडेंस बोनस को वेतन का एक पार्ट बताया जाता है। समझौते में उसे जोड़कर ही वेतन बढ़ने पर यूनियने इतराती हैं, हालांकि वेज जसा लाभ इसपर नहीं मिलता है। बोनस की इस राशि पर न तो पीएफ कटता है, न ही पेंशन। ग्रेच्युटी की गणना भी नहीं होती है। वेज का हिस्सा मानने पर इसपर भी बेसिक की तरह सभी कटौती की जानी चाहिये।ड्ढr सीएल पर एलटीसी मिलेड्ढr रांची। राष्ट्रीय कोयला मजदूर यूनियन के जगन्नाथ साहू ने अधिकारियों की तरह कामगारों को भी सीएल पर एलटीसी एवं एलएलटीसी की सुविधा दिये जाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि इसकी सुविधा लेने के लिए कामगारों को इएल लेना पड़ता है। इससे उन्हें घाटा होता है। उन्होंने 23 एवं 24 को जेबीसीसीआइ की बैठक में इसे प्रमुखता से उठाने का आग्रह सदस्यों से किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आज से कोल इंडिया में तीन दिनी हड़ताल