DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जल्द ही दुनिया के 60 फीसदी हृदय रोगी भारतीय!

वर्ष 2010 तक दुनिया के हृदयरोगियों में 60 फीसदी भारतीय होंगे। ऐसा एक जीन में होने वाले परिवर्तन की वजह से हो रहा है। इस विषय पर शोध करने वाले चार देशों के 25 शोधकर्ताओं के समूह का कहना है कि दुनिया की कुल आबादी के एक फीसदी लोगों में यह जीन परिवर्तन होता है जो हृदयरोग को जन्म देता है। उन्होंने कहा कि इनमें से अधिकांश मामले भारत में घटित होते हैं। शोध कार्य के प्रमुख और हैदराबाद स्थित सेंटर फॉर मालिक्युलर बायोलॉजी में कार्यरत कुमारस्वामी थांगराज ने कहा, ‘‘जीन में होने वाला यह परिवर्तन एक असामान्य प्रोटीन का निर्माण करता है। युवा लोग तो इस प्रोटीन को घटाकर स्वस्थ हो सकते हैं लेकिन बुजुर्ग लोगों में यह हृदय रोग को जन्म देगा।’’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जल्द ही दुनिया के 60 फीसदी हृदय रोगी भारतीय!