अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वैशाली से मोहननगर आए मेट्रो

डीएमआरसी चीफ चाहते हैं कि वैशाली मेट्रो रूट की मेट्रो मोहननगर तक दौड़ लगाए। इससे पूरा शहर राजीव चौक से सीधे जुड़ जाएगा। इसका प्रस्ताव डीएमआरसी ने जीडीए वीसी को भेजा है। पांच किलोमीटर लंबे रूट का डीपीआर तैयार करने में चालीस लाख का खर्चा आएगा। मेट्रो रूट में विस्तार होने से शहर के लाखों लोगों को लाभ मिलेगा।


राजीव चौक रूट की मेट्रो अगले साल वैशाली तक पहुंच जाएगी। जीडीए ने नया बस अड्डा से दिलशाद गार्ड रूट का डीपीआर तैयार करा रखा है। डीएमआरसी चीफ ई.श्रीधरन ने जीडीए वीसी को प्रस्ताव भेजा है कि वैशाली रूट को मोहननगर तक बढ़ा लिया जाए। इससे शहर की आबादी को लाभ मिलेगा। मोहननगर से राजीव चौक के लिए लाइन इंटरचेंज का काम किया जाएगा। पूरा पुराना शहर राजीव चौक से जुड़ जाएगा। डीएमआरसी का तर्क है कि इस प्रोजेक्ट से लाखों लोगों को लाभ मिलेगा। करीब चालीस लाख की लागत से इस रूट का डीपीआर तैयार किया जाएगा। डीएमआरसी ने चार माह में डीपीआर तैयार करने का दावा किया है। जीडीए का प्लानिंग सेक्शन इस प्रस्ताव पर विचार कर रहा है। आरआरटीएस के लिए हो रहे सर्वे का इसमे इस्तेमाल किया जा सकता है।

हमारे पास डीएमआरसी का प्रस्ताव आ गया है। आरआरटीएस से इसकी तुलना की जा रही है। जीडीए दोनों प्रस्तावों की तुलना कर रहा है। जो प्रस्ताव कम लागत का होगा, उसी पर विचार किया जाएगा।
अनिल गर्ग, मुख्य अभियंता, जीडीए

वैशाली-मोहननगर रूट
-पांच किलोमीटर होगी रूट की लंबाई
-चालीस लाख की लागत से तैयार होगा डीपीआर
-डीएमआरसी का दावा, लाखों को मिलेगा लाभ
-मोहननगर पर बड़ा स्टेशन बनाने का प्रस्ताव

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वैशाली से मोहननगर आए मेट्रो