अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फैकल्टी बनने के लिए 50 फीसदी छात्र आ रहे आगे

इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट, एमसीए व फार्मेसी कॉलेजों में शिक्षक बनने के लिए छात्रों की संख्या बढ़ रही है। बैचलर डिग्री के बाद उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए 50 फीसदी छात्र आगे आए हैं। देश के अग्रणी तकनीकी शिक्षण संस्थान से एमटेक करने का सपना संजोए एक हजार से अधिक छात्र इस बार ग्रेजुएट एप्टीट्यूड टेस्ट (गेट) में शामिल हुए थे, जबकि फरवरी माह में होने वाली जीपैट (एमफार्मा के लिए) परीक्षा में शामिल होने के लिए छात्र खुद को अभी से तैयार कर रहे हैं। कॉलेज के एचओडी से संपर्क साधने के अलावा छात्रों ने दिल्ली स्थित कोचिंग इंस्टीट्यूट में उन्होंने अपना रजिस्ट्रेशन करवाना शुरू कर दिया है।       
ग्रेटर नोएडा स्थित आरवी नॉर्थलैण्ड कॉलेज के निदेशक डॉ. बिजेन्द्र सिंह ने बताया कि एमफार्मा में दाखिला लेने के लिए छात्रों की संख्या बढ़ी है। पिछले साल की तुलना में इस साल 30 फीसदी छात्र बीफार्मा के साथ इसकी तैयारी भी कर रहे हैं। एमफार्मा करने का बड़ा कारण फैकल्टी व शोध के अलावा कंपनियों में उच्च पदों पर नियुक्ति की संभावना बढ़ना है।    
 एम टेक व शोध करके तलाश रहे भविष्य की संभावनाएं
:एआईसीटीई के कड़े दिशा निर्देश के चलते बीटेक पास आउट छात्रों के पास फैकल्टी बनने की राह बंद हो गई है। ऐसे में गेट परीक्षा पास में शामिल होने वाले छात्रों की संख्या बढ़ी है। एमटेक के लिए आयोजित परीक्षा में शामिल होने के लिए छात्र कोचिंग सेंटर का सहारा ले रहे हैं। बीटेक के छात्र वीरेंद्र यादव ने बताया कि पिछली बार वह गेट परीक्षा में शामिल हुए थे। परीक्षा में असफल छात्र फिर से उसकी तैयारी कर रहे हैं। फैकल्टी बनने व शोध में जाने के लिए सहपाठी फरवरी में होने वाली इस परीक्षा में शामिल होंगे।      
कंपनियों में भी मिलता है वेटेज :
एमफार्मा के लिए होने वाली एआईसीटीई ग्रेजुएट फॉर्मेसी एप्टीट्यूट टेस्ट (जीपैट) में सफल होने वाले छात्रों के सामने फैकल्टी बनने से लेकर कंपनियों तक के दरवाजे खुल जाते हैं। डॉ. बिजेंद्र सिंह ने बताया कि 60 में से 30 छात्र जीपैट की तैयारी कर रहे हैं। इसके लिए वह एचओडी से टिप्स भी ले रहे हैं।   
 कॉलेज                                       छात्र                       उच्च शिक्षा में जाने वाले छात्र
आईएमएस                     60 (एमबीए)         करीब 20आरवी नॉर्थलैण्ड               60 (फार्मेसी)          30(जीपैट)महात्मा गांधी मिशन             150                   50 (गेट)जीएल बजाज                   420                   करीब 150जीएनआईटी                    500                   250 (गेट)

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फैकल्टी बनने के लिए 50 फीसदी छात्र आ रहे आगे