अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पी गई दिल्ली करोड़ों की शराब

राजधानी दिल्ली में आबादी बढ़ने के साथ-साथ शराब के शौकीनों की संख्या भी बढ़ रही है। बीते वर्षों के आंकड़े बताते हैं कि यहां शराब की बिक्री में तेजी से इजाफा हुआ है। देसी शराब, बीयर और अंग्रेजी शराब की कुल खपत देखें, तो पता चलता है कि दिल्ली के निवासी वर्ष 2009-10 में करीब 2.44 करोड़ पेटी शराब पी गए। ऐसे में सरकार के मद्य-निषेध के सारे दावे खोखले साबित हो रहे हैं। दिल्ली में वर्ष 2002-03 में बीयर की 43 हजार पेटियां बिकी थीं, जो साल 2009-10 में बढ़कर 98 लाख पेटियों तक पहुंच गईं। और अब तो आबकारी विभाग के नए कानून के बाद इनकी बिक्री में और बढ़ोतरी के आसार हैं।
ओमप्रकाश प्रजापति, ई-4, नन्दनगरी दिल्ली-93

स्वच्छता और शुद्धता
राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में चिकनगुनिया, डेंगू और मलेरिया ने महामारी का रूप धारण कर लिया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन को दी गई लेंसेट की रिपोर्ट में विकासशील देशों में मच्छरजनित रोगों के जो आंकड़े और कारण बताए गए हैं, वे हमारी आंखें खोलने के लिए काफी हैं। इन बीमारियों के कीटाणुओं के फैलने का प्रमुख कारण गंदे सार्वजनिक स्थलों पर बेतरतीब ढंग से पड़े रहना है। विभिन्न मसालों व खाद्य पदार्थो में रसायनों की मिलावट से भी रोगों का फैलाव जारी है। अतएव रोगों से लड़ने की क्षमता बनाए रखने व कीटाणुओं के कुप्रभाव से बचने के लिए स्वच्छता तथा खानपान की शुद्धता की ओर ध्यान देने की आवश्यकता है।
युगल किशोर शर्मा, खाम्बी, फरीदाबाद

पहले श्रीराम को जानिए
पिछले पखवाड़े ‘और भी गम हैं जमाने में अयोध्या के सिवा’ शीर्षक से खुशवंत सिंह का लेख पढ़ा। खुशवंत ने सही कहा है कि इतिहास के सबसे ज्यादा पूजे जाने वाले महापुरुष के बारे में हमारी जानकारी में सचमुच खामियां हैं। हालांकि संचार प्रणाली के आधार स्तंभ कंप्यूटर द्वारा श्रीराम के जन्म एवं अयोध्या की जानकारी एकत्र करने के प्रयास किए जा रहे हैं। भारतीय राजस्व सेवा के पुष्कर भटनागर ने एक आधुनिक सॉफ्टवेयर प्लेनेटेरियम विकसित किया है एवं इसमें वाल्मीकि रामायण में वर्णित ग्रह नक्षत्रों के आधार पर बताई जानकारी एवं तिथियों को अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार जानने का प्रयास किया। वाल्मीकि रामायण के बालकांड के अनुसार, श्रीराम का जन्म चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को पुनर्वसु नक्षत्र एवं कर्क लग्न में हुआ था। उस समय पांचों ग्रह (सूर्य, मंगल, शनि, गुरु व शुक्र) अपने-अपने उच्च स्थान पर विराजमान थे तथा लग्न में चंद्रमा के साथ बृहस्पति विद्यमान थे। इस जानकारी के आधार पर सॉफ्टवेयर ने अंग्रेजी कैलेंडर की 10 जनवरी दिन के 12 से 01 बजे के मध्य 5114 बी.सी. (ईसा पूर्व) का संकेत दिया। इस प्रकार श्रीराम का जन्म आज से 7,122 वर्ष पूर्व हुआ। इस संदर्भ में व्यापक शोध की आवश्यकता है।
ओ.पी. जोशी, 54, मधुबन कॉलोनी, केसरबाग रोड, इंदौर

भ्रष्टाचार का फैलता रोग
देश की राजनीति और नौकरशाही को भ्रष्टाचार के रोग ने किस कदर जजर्र कर दिया है, यह कॉमनवेल्थ खेलों के प्रसारण में भी घपले के रूप में सामने आ गया है। राष्ट्रमंडल खेल देश की प्रतिष्ठा से जुड़ा विशाल आयोजन था। इस आयोजन का भ्रष्टाचारियों ने भरपूर लाभ उठाया। सरकार के हर विभाग में बड़े-बड़े घोटाले किए गए। अब खेलों के नाम पर हुए घोटालों की जांच की जा रही है, परंतु क्या इन जांचों से दोषियों को सजा मिल सकेगी? दोषी बेनकाब हो सकेंगे? अब इसी कसौटी पर प्रधानमंत्री की ईमानदारी भी कसी जाएगी।
भगवान सिंह होलकर, जी-98, हरकेश नगर, नई दिल्ली

मानवता के दुश्मन
पश्चिमी दिल्ली के उत्तम नगर क्षेत्र में कई बीमारियां फैली हैं। डॉक्टर और दवा दुकानदार इसका लाभ उठा रहे हैं। जांच रिपोर्ट की फीस प्रति रोगी डेढ़ सौ रुपये तथा एक ग्लूकोज की बोतल चढ़ाने के बदले में पांच सौ रुपये वसूले जा रहे हैं। डॉक्टरों की फीस व दवाइयों की कीमत अलग से वसूली जा रही है। पश्चिमी दिल्ली की जे.जे. एवं पुनर्वास कॉलोनियों, झुग्गी कलस्टरों तथा अनधिकृत कॉलोनियों में रहने वाले रोगियों को इस गंभीर आर्थिक शोषण का सामना करना पड़ रहा है। डॉक्टरों ने बीमारी के इस लोमहर्षक सीजन को दीवाली बम्पर सीजन समझ लिया है। वे सेवा की जगह सिर्फ धंधा कर रहे हैं। जिस सेवा की फीस पचास से दो सौ रुपये तक हो सकती है, उसके लिए डॉक्टरों द्वारा पांच सौ से एक हजार रुपये तक वसूलने की नीति सरासर लूट नहीं, तो और क्या है? क्या मानवता के नाम पर भी उनका दिल नहीं दुखता? मरीजों के भगवान इतने तो बेरहम न बनो।
किशन लाल कर्दम, बी-514, जे.जे. कॉलोनी, हस्तसाल रोड, उत्तम नगर, नई दिल्ली

बोलने का सलीका
पलट के
आ भी सकते हैं
हमारे चाहने वाले।
ये निकले
लफ्ज होठों से
हमें बदनाम न कर दें।
शरद जायसवाल कटनी, मध्य प्रदेश

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पी गई दिल्ली करोड़ों की शराब