अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कल्याण नेदोबारा भाजपा छोड़ी, संन्यास नहीं

उत्तर प्रदेश के 76 वर्षीय नेता कल्याण सिंह ने एक बार फिर से भारतीय जनता पार्टी छोड़ दिया है। वह 2004 में बीजेपी में दोबारा शामिल हुए थे। उन्होंने लखनऊ में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि वह किसी पार्टी से नहीं जुड़ रहे। उन्होंने कहा कि बीजेपी में मेरा अपमान हुआ। उन्होंने खास तौर पर बुलंदशहर सीट पर अशोक प्रधान को टिकट दिए जाने पर अपनी नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के कुल 80 सीटों पर उम्मीदवारों के नाम तय करने का काम चल रहा है जिसमें उनसे कोई विचार-विमर्श नहीं किया गया। उन्होंने काफी आहत स्वर में कहा कि उन्होंन सिर्फ एक सीट के लिए अपनी आपत्ति जताई थी जिसे बीजेपी ने ठुकरा दिया। कल्याण सिंह ने कहा कि वह कोई नई पार्टी नहीं बना रहे हैं और न ही किसी पार्टी में शामिल हो रहे हैं। उन्होंने साथ ही कहा कि वह राजनीति से संन्यास नहीं ले रहे हैं। अपने चुनाव लड़ने पर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा अभी इस बारे में उन्होंने कोई अंतिम फैसला नहीं किया है। अगर फैसला किया तो उनके पास एटा सीट है। उन्होंने अपने ऊपर लगाए गए सारे आरोपों को निराधार बताया। उन्होंने कहा कि उन्होंने कभी भी अपने बेटे या नजदीकियों के लिए सीट की मांग नहीं की। उन्होंने सिर्फ बुलंदशहर सीट के लिए आपत्ति जताई थी, वह भी पार्टी के हित में। लेकिन पार्टी ने उसे भी खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि इसका बीजेपी को भारी कीमत चुकानी पड़ेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कल्याण नेदोबारा भाजपा छोड़ी, संन्यास नहीं