अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अशोक चव्हाण ने सोनिया गांधी से की इस्तीफे की पेशकश

अशोक चव्हाण ने सोनिया गांधी से की इस्तीफे की पेशकश

आदर्श हाउसिंग सोसाइटी मामले में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री की भूमिका को कांग्रेस नेतृत्व द्वारा गंभीरता से लिए जाने के बाद अशोक चव्हाण अपने राजनीतिक अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहे हैं। उन्होंने अपने पद से इस्तीफे की पेशकश कर दी है।

पार्टी आलाकमान द्वारा शुक्रवार रात तलब किए जाने के बाद चव्हाण शनिवार सुबह राजधानी पहुंचे और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से करीब एक घंटे की मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद चव्हाण ने संवाददाताओं को बताया कि उन्होंने इस्तीफा देने की पेशकश की है। पार्टी अध्यक्ष इस मुद्दे पर निर्णय करेंगी।

अशोक चव्हाण की सोनिया से यह मुलाकात उन खबरों की पष्ठभूमि में हुई है कि आदर्श हाउसिंग सोसाइटी में चव्हाण के तीन करीबी रिश्तेदारों को फ्लैट आवंटित हुए हैं। 51 वर्षीय चव्हाण महराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री एसबी चव्हाण के पुत्र हैं और उन्होंने दिसम्बर 2008 में राज्य की बागडोर संभाली थी।

इसबीच सोनिया गांधी ने पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं केन्द्रीय मंत्रियों प्रणव मुखर्जी और एके एंटनी की एक समिति बनाई है जो आदर्श हाउसिंग सोसाइटी से जुड़े विवाद पर रिपोर्ट तैयार करेगी। इस रिपोर्ट के आने के बाद आगे की कार्रवाई के बारे में कोई निर्णय किया जाएगा।

हालांकि उच्च पदस्थ सूत्रों का कहना है कि यह कुछ ही समय की बात रह गई है जब चव्हाण से यह कहा जा सकता है कि वे अपने पद से हट जाएं। ऐसा अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा की छह सात नवम्बर को मुंबई की यात्रा समाप्त होने के बाद हो सकता है।

चव्हाण का उत्तराधिकारी कौन होगा इसको लेकर कांग्रेस में अटकलें लग रही है। केन्द्रीय मंत्री पृथ्वीराज चव्हाण, मुकुल वासनिक और गुरदास कामत के नाम की चर्चा है। दक्षिण मुंबई की आदर्श ग्रुप हाउसिंग सोसाइटी में चव्हाण की सास और दो अन्य संबंधियों को फ्लैट आवंटित किए जाने की खबरें आने के बाद पार्टी ने चव्हाण को कल रात दिल्ली तलब किया था। अपनी पत्नी के साथ आज सुबह राजधानी पहुंचने के बाद चव्हाण ने पार्टी अध्यक्ष से उनके दस जनपथ स्थित निवास पर भेंट की।

चव्हाण की सोनिया से मुलाकात के दौरान रक्षा मंत्री एके एंटनी और कांग्रेस अध्यक्ष के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल भी मौजूद थे। एंटनी पार्टी में महाराष्ट्र मामलों के प्रभारी भी है। इस मुलाकात के बाद चव्हाण ने कहा कि उन्होंने हाउसिंग सोसाइटी के बारे में सारे तथ्य सोनिया के समक्ष रखे और यह भी कि उन्होंने इस मामले में सीबीआई जांच का स्वागत किया था। उन्होंने कहा कि जो भी सच्चाई है (जो जांच के बाद सामने आते हैं) उसे सार्वजनिक किया जाना चाहिए।

चव्हाण ने कहा कि जिस जमीन पर यह हाउसिंग सोसाइटी बनी है वह जमीन राज्य सरकार की है और यह भी कहा कि परियोजना के बारे में लिए गए निर्णय में अन्य मुख्यमंत्री भी शामिल रहे हैं। इससे पहले सोनिया ने आज सुबह इस मुद्दे को लेकर पार्टी के नेताओं से विचार विमर्श किया। जिन नेताओं से सुबह सोनिया की मुलाकात हुई उनमें पर्यावरण मंत्री जयराम रमेश, कांग्रेस अध्यक्ष के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल, महासचिव जनार्दन द्विवेदी और केंद्रीय मंत्री पृथ्वीराज चव्हाण शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अशोक चव्हाण ने सोनिया गांधी से की इस्तीफे की पेशकश