DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकार गिलानी व अरुंधति के खिलाफ मामला दर्ज नहीं कराएगी

सरकार गिलानी व अरुंधति के खिलाफ मामला दर्ज नहीं कराएगी

सरकार ने कश्मीर के कट्टरपंथी अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी और सामाजिक कार्यकर्ता अरुंधति राय के कथित देश विरोधी भाषणों को लेकर उनके खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं कराने का गुरुवार को फैसला किया। इन दोनों लोगों ने पिछले हफ्ते यहां एक सेमिनार में कथित तौर पर देश विरोधी भाषण दिया था।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बताया है कि विभिन्न मुद्दों पर विचार करने के बाद यह फैसला किया गया। यह निर्णय लिया गया कि इस तरह के किसी कदम उन्हें अनावश्यक प्रचार मिलेगा और घाटी में अलगाववादियों को एक मौका मिलेगा। उन्होंने बताया कि हमने उन्हें नजरअंदाज करने का फैसला किया है।

गिलानी और अन्य लोगों ने 21 अक्टूबर को यह बयान दिए थे, जिसे अलगाववाद को तूल देने की कोशिश के रूप में देखा गया। गृह मंत्रालय ने इस मुद्दे पर कानूनी राय मांगी थी, जिसमें यह सुझाव दिया गया कि आईपीसी की धारा 124 (ए) देशद्रोह के तहत एक मामला दर्ज किया जा सकता है। मंत्रालय ने राजनीतिक राय लेने के बाद गिलानी और राय के खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं कराने का फैसला किया।

आजादी- एक मात्र रास्ता विषय पर आयोजित सम्मेलन में गिलानी, लेखिका अरुंधति और माओवाद समर्थक नेता वार वरा राव शामिल हुए थे। श्रोता गिलानी के भाषण पर भड़क गए और एक व्यक्ति ने उन पर जूता फेंक दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सरकार गिलानी व अरुंधति के खिलाफ मामला दर्ज नहीं कराएगी