अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीसरे दौर का मतदान शांतिपूर्वक सम्पन्न

बिहार विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण में छह जिलों के 48 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था के बीच गुरुवार शाम संपन्न हो गया। इस दौरान इक्का-दुक्का घटनाओं के अलावा कहीं से किसी बड़ी घटना की सूचना नहीं है।

एक चुनाव अधिकारी के मुताबिक तीसरे चरण के मतदान में 51 से 55 प्रतिशत से ज्यादा मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया। पश्चिमी चम्पारण जिले में 56 प्रतिशत से ज्यादा मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया।

इस चरण का मतदान सम्पन्न होने के साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, उनके भाई अनिरूद्घ प्रसाद उर्फ साधु यादव और कई मंत्रियों सहित 785 प्रत्याशियों की राजनीतिक किस्मत इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनों (इवीएम) में बंद हो गई। मतदान में गड़बड़ी करने के आरोप में करीब 185 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

तीसरे चरण की 48 सीटें पूर्वी चम्पारण, पश्चिमी चम्पारण, गोपालगंज, सीवान, सारण और वैशाली जिले के अंतर्गत आती हैं। सबसे ज्यादा 31 प्रत्याशी महुआ विधानसभा क्षेत्र में हैं तो सबसे कम सात प्रत्याशी रक्सौल से चुनावी समर में हैं।

48 में से 43 विधानसभा क्षेत्रों में सुबह सात बजे से शाम के पांच बजे तक मतदाताओं ने मत डाले, जबकि सुरक्षा के दृष्टिकोण से वाल्मीकीनगर, रामनगर और पातेपुर विधानसभा क्षेत्रों में तीन बजे तक और अमनौर तथा तरैया विधानसभा क्षेत्रों में चार बजे तक मतदान हुआ।

इस चरण में कुल 1,03,76,022 मतदाताओं के लिए 10,401 मुख्य तथा 413 सहायक मतदान केन्द्र बनाए गए थे। राज्य पुलिस मुख्यालय के एक अधिकारी के मुताबिक अब तक चुनाव के दौरान कहीं से बड़ी अप्रिय घटना की सूचना नहीं है।

उन्होंने बताया कि अब तक मतदान के दौरान गड़बड़ी फैलाने के आरोप में 185 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इनमें सबसे ज्यादा गोपालगंज में 105, बेतिया में 24 तथा सीवान में 23 लोग शामिल हैं। इस दौरान 58 से ज्यादा वाहन भी जब्त किए गए हैं।

इधर, कई मतदान केंद्रों पर लोगों ने मतदान का बहिष्कार भी किया। इस बीच, सीवान जिले के बड़हरिया विधानसभा क्षेत्र के मतदान केंद्र संख्या 107 पर मतदान कर लौट रही 68 वर्षीय कुसुम देवी की हृदय गति रूक जाने से मौत हो गई।

राज्य के पुलिस महानिदेशक नीलमणि ने बताया कि तीसरे चरण के मतदान को लेकर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध थे। उन्होंने कहा कि संवेदनशील तथा अति संवेदनशील मतदान केंद्रों पर केंद्रीय अर्धसैनिक बलों को लगाया गया था तथा अन्य मतदान केंद्रों पर अन्य सशस्त्र बलों को लगाया गया था। उन्होंने कहा कि बिहार-नेपाल और उत्तर प्रदेश की सीमा को सील कर दिया है।

उल्लेखनीय है कि प्रथम चरण के तहत 21 अक्टूबर को 47 सीटों पर तथा दूसरे चरण के तहत 24 अक्टूबर को 45 सीटों पर मतदान कराया गया था। गौरतलब है कि राज्य की 243 सीटों के लिए छह चरणों में 21, 24 और 28 अक्टूबर तथा एक, नौ और 20 नवंबर को मतदान की तिथि घोषित है। सभी सीटों के लिए मतगणना 24 नवंबर को होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तीसरे दौर का मतदान शांतिपूर्वक सम्पन्न