DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मोदी-सुषमा विवाद में गडकरी ने किया हस्तक्षेप

मोदी-सुषमा विवाद में गडकरी ने किया हस्तक्षेप

भाजपा के दो दिग्गज नेताओं विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज और गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी के बीच सार्वजनिक कहा सुनी मामला बिगड़ते देख पार्टी अध्यक्ष नितिन गडकरी ने हस्तक्षेप करके बीच बचाव किया।

भाजपा सूत्रों ने बताया कि बिहार विधानसभा चुनावों के ऐन वक्त दो वरिष्ठ नेताओं के बीच खुली तकरार से पार्टी की छवि को पंहुचे नुकसान से बचने के लिए गडकरी को हस्तक्षेप करना पड़ा। उन्होंने दोनों नेताओं को इस बात के लिए राजी किया कि वे सार्वजनिक रूप से कुछ नहीं कहेंगे।

बिहार विधानसभा चुनाव के लिए वहां प्रचार करने गई सुषमा से पत्रकारों ने जब मोदी के प्रचार में नहीं आने की वजह पूछी तो उन्होंने बिना किसी लाग लपेट के कथित रूप से कहा कि मोदी का जादू हर जगह नहीं चलता। कहा जाता है कि इससे तिलमिलाए मोदी ने सुषमा के प्रभाव वाले राज्य कर्नाटक के अपने एक समर्थक लहर सिंह के जरिए अखबारों में विज्ञापन छपवा कर इसका जवाब दिया। विज्ञापन में कहा गया था कि मोदी भीड़ को आकर्षित करने वालों में सर्वश्रेष्ठ हैं।

बताया जाता है सुषमा की इस टिप्पणी से आहत मोदी ने गडकरी से शिकायत की जिस पर उन्होंने विपक्ष की नेता से आग्रह किया कि वह ऐसी बातें करने से परहेज करें जो पार्टी के किसी नेता को आहत करें। सुषमा ने हालांकि दावा किया कि गडकरी ने इस विषय पर उनसे कोई बात नहीं की है। उन्होंने पटना से फोन पर कहा कि मैंने गडकरी से कल और परसों बात की। लेकिन उन्होंने इस विषय को उठाया तक नहीं। उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की यात्रा के संदर्भ में मुझसे पार्टी की विदेश मामलों के प्रकोष्ट की बैठक में शामिल होने के संबंध में बात की थी। इस (मोदी प्रकरण) बारे में उन्होंने एक शब्द नहीं कहा।

विपक्ष की नेता ने यह दावा भी किया कि मोदी के बारे में उनके हवाले से जो बात कही जा रही है वह उन्होंने कही ही नहीं। कुछ लोगों ने राजनीतिक लाभ के लिए अखबारों में मोदी के साथ मेरी लड़ाई की कहानी प्लांट कराई है। जबकि नरेन्द्रभाई और मेरे बीच कोई लड़ाई है ही नहीं।

सुषमा के इस दावे बावजूद पार्टी सूत्रों का कहना है कि स्वराज की टिप्पणी से मोदी खासे नाराज हैं। उन्होंने गडकरी के सामने अपनी आहत भावना का इजहार भी किया। इस पर गडकरी ने पटना फोन कर सुषमा से संयम बरतने को कहा। सूत्रों ने बताया कि गडकरी ने आज सुबह भाजपा संसदीय दल के नेता लालकृष्ण आडवाणी से मुलाकात की। ऐसी अटकलें हैं कि दोनों के बीच इस मुद्दे पर चर्चा हुई।

भाजपा प्रवक्ता निर्मला सीतारमन ने इन दो वरिष्ठ नेताओं में खुली जंग के बारे में पूछे जाने पर यहां संवाददाताओं से कहा कि सुषमा ने जो कहा सबने सुना, उसमें और कुछ कहने की जरूरत नहीं है। हमें और कुछ नहीं कहना है। उन्होंने कहा कि समस्या कुछ है ही नहीं, सब सामान्य है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मोदी-सुषमा विवाद में गडकरी ने किया हस्तक्षेप