DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकार के आश्वासन के बाद डॉक्टरों ने वापस ली हड़ताल

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में परिवार कल्याण विभाग के मुख्य चिकित्सा अधिकारी विनोद कुमार आर्य के हत्यारों की सप्ताह भर के भीतर गिरफ्तारी के सरकार के आश्वासन के बाद राज्य के डॉक्टरों ने अपनी हड़ताल वापस ले ली।

प्रादेशिक मेडिकल सेवा (पीएमएस) एसोसिएशन ने हत्या के विरोध में गुरुवार को हड़ताल की घोषणा की थी लेकिन स्वास्थ्य मंत्री अनंत कुमार मिश्र और परिवार कल्याण मंत्री बाबू सिंह कुशवाहा के साथ कई दौर की बातचीत के बाद डॉक्टरों ने हड़ताल वापस ले ली। मंत्रियों के साथ बातचीत कल रात और आज सुबह हुई। पीएमएस एसोसिएशन के महासचिव डी.पी. सिंह ने आज कहा कि सरकार ने एक सप्ताह में हत्यारों की गिरफ्तारी और डॉक्टरों को पूरी सुरक्षा देने का आश्वासन दिया है।

डॉक्टर की हत्या के बारे में पुलिस अब तक कोई सुराग नहीं पा सकी है। डॉक्टर की हत्या की जांच का जिम्मा पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) को सौंपा गया है लेकिन अभी तक हत्यारों का कोई सुराग नहीं मिल सका है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार डॉक्टर को तीन गोली मारी गई थी जिससे उनकी मृत्यु हुई। जांच के लिए पुलिस ने तीन टीम गठित की गई हैं। एक को शाहजहांपुर और दूसरी टीम को कानपुर भेजा गया है। आर्य इन दो जगह पर भी कार्यरत थे।

ज्ञात है कि आर्य अपने कुत्ते के साथ कल सुबह सैर को निकले थे। मोटरसायकिल सवार दो लोगों ने उनके घर से कुछ दूर पर ही उन्हें गोली मार दी और फरार हो गए। पुलिस ने उनके घर से दो सूटकेस और कार्यालय से कुछ कागजात बरामद किए। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने हालांकि सूटकेस में मिले सामान के बारे में कुछ भी बताने से इनकार किया लेकिन यह जरूर कहा कि इससे अपराधियों तक पहुंचने में मदद मिलेगी। दो महीने पहले ही उनकी लखनऊ में नियुक्ति हुई थी। उनकी पत्नी भी परिवार कल्याण विभाग में डॉक्टर हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सरकार के आश्वासन के बाद डॉक्टरों ने वापस ली हड़ताल