अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सड़कों से हटीं ब्लू लाइन बसें, यात्री परेशान

दिल्ली की सड़कों से ब्लू लाइन बसों को हटाए जाने के कारण गुरुवार सुबह राजधानीवासियों को काफी परेशानी हुई। राज्य सरकार ने बुधवार को अधिसूचना जारी कर करीब 16,00 निजी बसों को सड़कों से हटाने का आदेश दिया था।

फैसले पर हालांकि कई यात्रियों ने खुशी जाहिर की है लेकिन कई दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) की बसों में हो रही भीड़ को लेकर चिंतित हैं। हाल के दिनों में निजी बसों के कारण होने वाली दुर्घटनाओं को लेकर काफी हंगामा हुआ था।

एक कामकाजी महिला सरिता दासगुप्ता ने कहा कि उन्हें हर रोज इंडिया गेट से मोतीबाग स्थित अपने कार्यालय जाना पड़ता है। उन्होंने कहा कि वह अक्सर ब्लू लाइन बसों में ही सफर करती हैं, कभी-कभार डीटीसी की बसें समय से मिल जाती हैं।
 
एक छात्र आशीष जैन ने कहा कि पहले डीटीसी बसों में सफर करने में बहुत मजा आता था क्योंकि इसमें अधिक भीड़ नहीं होती थी लेकिन अब वह सड़कों पर कम दिखती हैं। इससे पहले राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान स्टेडियमों के आस-पास ब्लू लाइन बसों की आवाजाही पर पूरी तरह से रोक लगा दिया गया था। खेलों के बाद सरकार ने 865 बसों को फिर से परिचालन की अनुमति दी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सड़कों से हटीं ब्लू लाइन बसें, यात्री परेशान