अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बेटा-बेटी खिलाने में मशगूल मुन्ना भाई नहीं पहुँचे अदालत

लोकसभा चुनाव के दौरान मुख्यमंत्री को ‘झप्पी-पप्पी’ मामले में फँसे फिल्म स्टार से राजनेता बने संजय दत्त दो बच्चों के बाप बनने से ज्यादा व्यस्त हो गए हैं। बुधवार को अदालत में बच्चों की देखभाल की दिक्कतों को दर्शाते हुए वह हाजिर नहीं हो सके। मुन्ना भाई के अधिवक्ता के प्र्थना पत्र पर अदालत में मामले की सुनवाई के लिए जनवरी में तारीख मुकर्रर की गई है।


लोकसभा चुनाव के दौरान अक्षय प्रताप सिंह के समर्थन में चुनावी सभा करने आए संजय दत्त ने अपने भाषण के दौरान बसपा सुप्रीमो पर टिप्पणी कर दी थी। प्रशासन ने इसे गंभीरता से लेते हुए हलका लेखपाल रियाजुद्दीन की तहरीर पर नगर कोतवाली में अश्लील टिप्पणी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। कोतवाली पुलिस ने सभी पक्षों का बयान लेकर संजय दत्त के खिलाफ अदालत में चाजर्शीट पेश की थी। इस मामले में कई पेशी से संजय दत्त अदालत में उपस्थित नहीं हो रहे हैं। बुधवार को भी उन्हें सुनवाई के लिए सीजेएम की अदालत में उपस्थित होना था लेकिन वह नहीं आ सके। संजय दत्त के अधिवक्ता आलोक कुमार सिंह ने अदालत को दिए गए प्रार्थना पत्र मे कहा कि संजय दत्त की पत्नी मान्यता ने सप्ताह भर पहले जुड़वा बच्चों को जन्म दिया है। इसी के चलते उनके संजय दत्त अदालत में उपस्थित नहीं हो सके। इस पर अदालत ने मामले की सुनवाई के लिए सात जनवरी 2011 की तारीख मुकर्रर की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बेटा-बेटी खिलाने में मशगूल मुन्ना भाई नहीं पहुँचे अदालत