अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सच हुए सपने पाखी के

सच हुए सपने पाखी के

बहुत कम लोग जानते हैं कि अब्बास टायरवाला की ‘झूठा ही सही’ में लीड रोल करने वाली पाखी ने आठ साल पहले ‘ये क्या हो रहा है’ से बॉलीवुड में डेब्यू किया था। बहुत से लोग यह भी नहीं जानते होंगे कि उन्होंने ‘झूठा ही सही’ से ही स्क्रीनराइटिंग डेब्यू भी किया है। पाखी, जिन्होंने टायरवाला से शादी से कर ली थी, का कहना है, जब उन्हें अच्छे रोल्स नहीं मिले तो उन्होंने स्क्रिप्ट लिखना शुरू कर दिया था। जब मैं छोटी थी, तब भी मैं बहुत-सी कहानियां लिखती थी। बहरहाल पाखी ने कहा कि उन्होंने अपना पहली स्क्रिप्ट जॉन अब्राहम के लिए लिखी थी, क्योंकि जॉन से उनका पहला क्रश हुआ था। जब हमने जॉन से इस फिल्म के लिए बात की तो उन्होंने चार साल तक डेट ना होने की बात कही। कई साल बाद जॉन इस प्रोजेक्ट को करने के लिए मान गये। मैंने कभी कल्पना भी नहीं की थी कि जॉन फिल्म में मेरे नायक बनेंगे। इसे कहते हैं सपनों का सच हो जाना।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सच हुए सपने पाखी के