अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

थर्ड पार्टी इंश्योरेंस

भले ही गलती आपकी न हो, पर कुछ नुकसान ऐसे होते हैं जिसमें आपको तीसरे पक्ष के नुकसान की भरपाई करनी पड़ती है। ऐसी स्थिति में किसी मौद्रिक संकट से बचने के लिए आवश्यक होता है कि आप खुद को थर्ड पार्टी के दायित्व के लिए भी सुरक्षा प्रदान करें। डॉक्टर, वकील, इंजीनियर आदि प्रोफेशनल्स के लिए पर्सनल लाइबिलिटी इंश्योरेंस जरूरी है। हालांकि नुकसान की भरपाई के लिए अभी देश में पड़ोसी या मेहमानों द्वारा किसी व्यक्ति पर मुकदमा आदि का चलन बड़े स्तर पर नहीं है, पर वकील व डॉक्टरों द्वारा हुई भूल के लिए न्यायिक मामले दर्ज करने की बात नई नहीं है।
पर्सनल लाइबिलिटी इंश्योरेंस में थर्ड पार्टी के नुकसान से सुरक्षा प्रदान की जाती है। थर्ड पार्टी के नुकसान की भरपाई उसी स्थिति में होती है जब मामला अदालत में जाता है। यदि गुडविल के आधार पर आप और आपका पड़ोसी अनौपचारिक बातचीत में मामला सुलझाते हैं, तो इंश्योरेंस कंपनी आपको अपने आधार पर ही नुकसान का भुगतान नहीं करेगी। थर्ड पार्टी के नुकसान से सुरक्षा पाने के लिए केस दर्ज कराना जरूरी होगा। हालांकि उसके बाद तीनों पक्ष अदालत से बाहर समझौता कर सकते हैं। आमतौर पर पर्सनल लाइबिलिटी पॉलिसी हाउसहोल्डर पैकेज पॉलिसी और ट्रैवल इंश्योरेंस पॉलिसी के साथ मिलती है।
इसी तरह मोटर थर्ड पार्टी लाइबिलिटी इंश्योरेंस की स्थिति में बीमाकृत वाहन द्वारा हुए जान-माल के नुकसान की भरपाई की जाती है। मोटर वाहन अधिनियम के तहत सभी वाहनों का थर्ड पार्टी इंश्योरेंस होना जरूरी है। मोटर थर्ड पार्टी लाइबिलिटी पॉलिसी में तीसरे पक्ष के नुकसान की पूरी भरपाई इंश्योरेंस कंपनी करती है। यदि जानमाल की हानि हुई है तो इसकी भरपाई घायल या मृत व्यक्ति की अजर्न क्षमता और घायल व्यक्ति की उम्र पर निर्भर करेगी। थर्ड पार्टी की संपत्ति के नुकसान का अधिकतम दायित्व साढ़े सात लाख रुपये और न्यूनतम छह हजार रुपये है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:थर्ड पार्टी इंश्योरेंस